Headline


गर्मी की मार सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे यूरोप में भी भीषण गर्मी

Medhaj News 29 Jun 19 , 06:01:39 Ajab Gajab
heat_berlin_shower.jpg

गर्मी की मार सिर्फ भारत के लोग ही नहीं जेल रहे बल्कि पूरे यूरोप में भी इस बार गर्मी ने कहर बरपा रखा है | तापमान अपने चरम स्तर पर पहुंच गई है | जून के आखिरी हफ्ते में पूरे यूरोप का औसत तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के ऊपर पहुंच गया है | इसी बीच फ्रांस में रिकॉर्ड तोड़ गर्मी दर्ज की गई | शुक्रवार को फ्रांस के कुछ हिस्सों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया, जो फ्रांस के इतिहास में उच्चतम है | भीषण गर्मी को देखते हुए यहां कई स्कूल बंद कर दिए गए हैं | इससे पहले फ्रांस का अधिकतम तापमान का रिकॉर्ड 44.1 डिग्री सेल्सियस था, जो साल 2003 के अगस्त महीने में दर्ज किया गया था | फ्रांस के राष्ट्रपति इमेनुएल मैक्रों ने चेतावनी दी है कि ग्लोबल वार्मिंग की वजह से आगे भी भीषण गर्मी का सामना करना पड़ सकता है | यूरोप 25 डिग्री से 45 डिग्री लैटीट्यूड के बीच बसा हुआ है | इसे टेम्परेट जोन (कम तापमान वाला) कहा जाता है | 40 डिग्री से ज्यादा तापमान यहां के लोगों के लिए झुलसाने वाला है | 





फ्रांस के मौसम विभाग ने कहा कि तापमान अभी और भी ऊपर चढ़ सकता है | मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि यूरोप में बढ़ते तापमान की बड़ी वजह अफ्रीका की ओर से आ रही गर्म हवाएं हैं | हवाएं गर्म होने के कारण फ्रांस में सड़कों पर निकलना काफी मुश्किल हो गया है | न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक- देशभर की दुकानों से पंखे और एयर कंडीशंड बिक चुके हैं | शिक्षा मंत्रालय ने मिडिल स्कूल की परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं | वहीं, फ्रांस में चल रहे महिला फुटबॉल वर्ल्ड कप को देखते हुए 32 डिग्री से ज्यादा तापमान होने पर वॉटर ब्रेक करने की बात कही गई है | वहीं, स्पेन में भी लू के चलते दो लोंगों के मौत की खबर है | स्पेन के वालाडोलिड में एक 93 वर्षीय व्यक्ति की लू लगने से मौत हो गई | इसके अलावा एक बच्चे की भी जान चली गई | गर्मी के कहर का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि फ्रांस में लोगों को राहत देने के लिए सड़कों पर फव्वारे लगाए गए हैं |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends