बुलेट भगवान से लेकर नूल्डस वाली काली माता, भारत में मौजूद हैं ये अजीबो-गरीब मंदिर!

मेधज न्यूज  |  Ajab Gajab  |  4 Jan 17,15:52:14  |  
mn8.jpg

यूं तो भारत अपने अलग-अलग रीति-रिवाज व प्राचीन विरासत को लेकर जाना जाता है। वहीं मंदिर व पूजा-पाठ भारत के रीति-रिवाज का अहम हिस्सा है। भारत में कई ऐसे मंदिर मौजूद हैं, जहां के रीति-रिवाज व प्रथाएं काफी अजीब होती हैं। इन मंदिरों की अजीबों-गरीब प्रथाओं को जान आप भी हैरान हो जाएंगे।

आज हम आपको ऐसे ही अजीबो-गरीब प्रथाओं से मशहूर कुछ मंदिरों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं।

यह रहे भारत के कुछ अजीबो-गरीब मंदिर-

गायब हो जाने वाला मंदिर- गुजरात के वडोदरा से 40 मील की दूरी पर  है यह स्तंभेश्वर महादेव मंदिर है। इस मंदिर की खास बात यह है कि यह मंदिर पल भर के लिए आपकी आंखों से ओझल हो जाता है और फिर थोड़ी देर बाद अपने उसी जगह वापस दिखाई देने लगता है। जब लहरों का दवाब कम हो तभी आप इस मंदिर के दर्शन कर सकते हैं।

ओम बन्ना मंदिर- ओम बन्ना मंदिर की विशेषता है कि यहां किसी भगवान की मूर्ति की पूजा नहीं होती बल्कि एक मोटरसाइकिल की पूजा होती हैं। जी हां, यह मंदिर राजस्थान के जोधपुर में स्थित है।

चाइनीज काली मंदिर- इस मंदिर की विशेषता यह है कि यहां भक्तों को प्रसाद में नूडल्स, चावल और सब्जियों से बनी करी दी जाती है। यहीं नहीं दुर्गा पूजा के दौरान प्रवासी चीनी लोग भी इस मंदिर में दर्शन करने आते हैं। इस जगह को चाइनाटाउन भी कहते हैं। यह मंदिर कोलकाता के टांगरा में स्थित है।

करनी माता का मंदिर- इस मंदिर की खास बात यह है कि यहां इंसानो से ज्यादा चूहे नजर आते हैं। यहां कि मान्यता यह है कि यह चूहे करनी माता की संताने है। राजस्थान के बिकानेर से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित देशनोक शहर में यह मंदिर है।

तैरने वाला शिव मंदिर- वाराणसी स्थित इस मंदिर के बारे में जानकार हैरानी होगी कि इस मंदिर का निर्माण किसी पहाड़ या समतल जगह पर नहीं किया गया है बल्कि यह मंदिर 'पानी पर बना है'। असल में यह मंदिर पानी में डूबा हुआ है और देखने में ऐसा लगता है कि मंदिर पानी पर तैर रहा हो।

 

 

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...