Headline



पाकिस्तान में नान बनाने की दुकानें बंद करनी पड़ी हैं, लोगों को नहीं मिल रही हैं रोटियां

Medhaj News 21 Jan 20 , 06:01:40 Ajab Gajab
pakistan.jpg

पहले से आर्थिक बदहाली से जूझ रहा पाकिस्तान अब आटे की कमी का सामना कर रहा है | बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के कई राज्यों में लोगों को रोटियां नहीं मिल पा रही हैं | हालांकि, प्रशासन का दावा है कि आटा या गेहूं की कमी नहीं है और जान बूझकर संकट पैदा कर दी गई है | बलूचिस्तान, सिंध, खैबर पख्तूनख्वाह और पंजाब में आटे की कमी हो गई है | काफी लोगों के पास रोटी की समस्या की वजह से सिर्फ चावल खाने का ही विकल्प है | आटे की कमी का असर ये हुआ है कि खैबर पख्तूनख्वाह में नान बनाने वाली कई दुकानें बंद करनी पड़ी हैं | आटे की कमी और दाम बढ़ने की वजह से नान तैयार करने वाले नानबाई हड़ताल पर चले गए हैं | इमरान खान की सरकार ने राज्यों में आटे की किल्लत का संज्ञान लिया है | समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, सोमवार को सरकार ने 3 लाख टन गेहूं के आयात को भी मंजूरी दे दी है | लेकिन पहला शिपमेंट आने में 15 फरवरी तक का वक्त लग सकता है | इमरान सरकार ने ये साफ नहीं किया वह किस देश से गेहूं खरीदेगी |





वहीं, पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि प्राइवेट कंपनी जिस देश से चाहे गेहूं आयात कर सकती है | कमी की वजह से देश में आटा और रोटी के दाम बढ़ गए हैं | कई दुकानदारों ने कहा है कि उन पर सरकार कम दाम में रोटी बेचने के लिए दबाव बना रही है | रावलपिंडी के एक दुकानदार शेराज खान ने न्यूज एजेंसी से कहा कि अगर मुझे आटा महंगा मिलता है तो मैं एक रोटी 8 रुपये में नहीं बेच सकता हूं | उन्होंने कहा कि एलपीजी के दाम भी बढ़ गए हैं | नई सरकार आने के बाद 4 बार दाम बढ़ाए गए हैं | 2018 के आखिर से लेकर जून 2019 के बीच तक पाकिस्तान ने 6 लाख मिट्रिक टन गेहूं का निर्यात किया था | जुलाई 2019 में गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दी गई थी | लेकिन इसके बाद भी अक्टूबर तक 48 हजार मिट्रिक टन गेहूं विदेश भेजे गए | रोक के बावजूद निर्यात को लेकर जांच की मांग की गई थी | विपक्षी पार्टी के नेता ख्वाजा आसिफ ने कहा था कि कई लोगों ने इस धंधे से करोड़ों बना लिया | उन्होंने आशंका जताई है कि हो सकता है कि घोटाले की वजह से गेहूं का संकट पैदा हुआ |   


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends