आज गृह मंत्री करेंगे स्मार्ट फेंसिंग के पायलट प्रोजेक्ट का उद्घाटन

Medhaj news 17 Sep 18 , 06:01:38 India
rajnath_singh.jpg

देश में पहली बार लेजर एक्टिव बाड़ यानी फेंस लगाई गई है। आज यानी सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह जम्मू क्षेत्र में पाकिस्तान से लगी सीमा पर 5-5 किलोमीटर के दो क्षेत्रों में 'स्मार्ट फेंस' पायलट परियोजना का उद्घाटन करेंगे।

कंप्रीहेंसिव इंटीग्रेटेड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम कार्यक्रम के तहत लगाए जा रहे इस सिस्टम में अदृश्य दीवार रहेगी, जो सरहद की निगरानी करेगी|इस दौरान एक साथ कई सिस्टम काम कर रहे होंगे, जो हवा, जमीन और पानी में देश की सीमा की रक्षा करेंगे|जमीन पर ऑप्टिकल फाइबर सिस्टम, पानी के रास्तों में सेंसर युक्त सोनार सिस्टम और हवा में हाई रेजोल्यूशन कैमरा व एयरोस्टेट कैमरा दुश्मन की हर चाल पर नजर रखेंगे | इसके अलावा लेजर सिस्टम अंतरराष्ट्रीय सीमा के नदी नालों वाले इलाके में लगे होंगे | वहीं, इन सारे सिस्टम की निगरानी थोड़ी ही दूर पर बने यूनीफाइड कंट्रोल रूम के जरिए की जाएगी |

सीमा पर हर हरकत की रिपोर्ट इस सेंटर तक आएगी | किसी भी हरकत की रिपोर्ट यह यूनिफाइड कंट्रोल रूम आगे क्विक रिएक्शन टीम यानी क्यूआरटी को देगा, जोकि उसके बगल में ही मौजूद होगी और तत्काल दुश्मन को ढेर कर देगी |सोमवार सुबह 11 बजे गृह मंत्री राजनाथ सिंह जम्मू पहुंचेंगे, जहां सबसे पहले इस स्मार्ट फेंसिंग सिस्टम का अनावरण करेंगे | इसके बाद वो जवानों के साथ सैनिक सम्मेलन करेंगे और फिर करीब 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूरे प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी देंगे | इसके बाद करीब दोपहर एक बजे गृह मंत्री भारत-पाकिस्तान बॉर्डर इलाके का दौरा करेंगे | यहां पर वो BSF के बॉर्डर आउटपोस्ट और फेंसिंग में लगे टेक्निकल गैजेट्स को देखेंगे | फिर इसके बाद वो शाम करीब पांच बजे दिल्ली वापस लौट जाएंगे |

बता दें कि पाकिस्तान घुसपैठ कराने के लिए हर चाल चल रहा है, तो इस घुसपैठ को रोकने के लिए भारत भी कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है | लिहाजा इंटरनेशनल बॉर्डर की सुरक्षा कर रही बीएसएफ स्मार्ट फेंसिंग लगाने का पायलट प्रोजेक्ट जम्मू से शुरू कर रही है | भारत की 2,400 किमी सीमा पाकिस्तान से लगती है |कंप्रीहेंसिव इंटीग्रेटेड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम (CIBMS) कार्यक्रम के तहत केंद्र सरकार ने भारत-पाकिस्तान के बॉर्डर को इजरायल की तर्ज पर सुरक्षित करने का काम पिछले साल शुरू किया था | स्मार्ट फेंसिंग के साथ ही नदी नालों के इलाके में लेज़र वॉल भी लगाई गई है | इसके अलावा अंडरग्राउंड सेंसर्स और कैमरे से निगरानी की भी व्यवस्था की गई है |गृह मंत्रालय पांच स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था के जरिए भारत-पाकिस्तान बॉर्डर को सील करना चाहता है, ताकि घुसपैठ को पूरी तरह रोका जा सके |  

ये भी पढ़े - एक लड़की को BPO में पीटने के मामले पर गृहमंत्री ने तुरंत कारवाही करने का आदेश दिया

स्मार्ट फेंस में थर्मल इमेजर, इन्फ्रा-रेड और लेजर बेस्ड इंट्रूडर अलार्म की सुविधा होगी। इससे एक अदृश्य जमीनी बाड़, हवाई निगरानी के लिए एयरशिप, नायाब ग्राउंड सेंसर लगा होगा जो घुसपैठियों की किसी भी हरकत को भांपकर सुरक्षा बलों को सूचित कर देगा।सुरंग खोदकर भारतीय सीमा में घुसपैठ अब मुमकिन नहीं होगी। सुरंग, रडार और सोनार सिस्टम से सीमा पर नदी के किनारों को सुरक्षित किया जा सकेगा। कमांड और कंट्रोल सिस्टम सभी सर्विलांस उपकरणों से डाटा को रियल टाइम में रिसीव करेंगे।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like