ग्रामीण इलाकों के गरीब परिवारों को सरकार देगी 1 लाख का कर्ज, ब्याज पर भी मिलेगी सब्सिडी

मेधज न्यूज  |  Business & Economy  |  20 Apr 17,13:40:43  |  
kisan.jpg

केंद्र सरकार ग्रामीण इलाकों में बसे गरीब परिवारों की गरीबी दूर करने के लिए अहम कदम उठाने जा रही है। सरकार माइक्रो-क्रेडिट प्रोग्राम बना रही है, इस प्रोग्राम के जरिए गरीब परिवारों को आसान शर्तों पर कर्ज मुहैया कराया जाएगा।

ग्रामीण विकास मंत्रालय के सचिव अमरजीत सिन्हा ने कहा, “हमने कर्ज लेने की प्रक्रिया सरल कर दी है। हम हर परिवार की आजीविका के साधनों के ब्योरे जुटा रहे हैं ताकि उसके मुताबिक कर्ज दिया जा सके।”

क्या है प्रोग्राम

प्रोग्राम यह है कि अगले 3-5 सालों में हर परिवार को 1 लाख रूप तक कर्ज दे दिया जाए, जिसके बदले कोई भी चीज गिरवी नहीं रखी जाएगी। वहीं इस कर्ज के साथ लगने वाले ब्याज पर सरकार की तरफ से सब्सिडी भी दी जाएगी। बताया जा रहा है कि 11 की जगह 7 फीसदी ब्याज लगेगा। ये कर्ज ग्रामीणों को खेत की जुताई, पोल्ट्री फार्म व बकरी पालन जैसे कामों के लिए मिलेगा।

क्यों है यह प्रोग्राम-

बता दें, यह प्रोग्राम ग्रामीण इलाकों में गरीब परिवार को साहूकार व माइक्रोफाइनेनस कंपनियों से बचाने के लिए लाई जा रही है। जहां बैंक कर्ज के लिए 11 फीसदी ब्याज लेता है, वहीं यह साहूकार व माइक्रोफाइनेनस कंपनियां इससे कई गुना ब्याज वसूलती हैं। 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।


    loading...