मुख्य सचिव से मारपीट मामले में पुलिस केजरीवाल से करेगी पूछताज, 18 मई को बुलाया

Medhaj news 17 May 18 , 06:01:38 Business & Economy
kejriwal.jpg

दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नोटिस भेजकर उनसे मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर कथित हमले के मामले में पेश होने का कहा है।
उधर, आप ने आरोप लगाया कि केजरीवाल को परेशान करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी दिल्ली पुलिस का ‘दुरुपयोग’ कर रहे हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सीआरपीसी की धारा 160 के तहत केजरीवाल को बुधवार को एक नोटिस भेजा गया और उनसे 18 मई सुबह 11 बजे पूछताछ में शामिल होने को कहा गया है। ऐसी संभावना भी है कि पुलिस उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को भी जांच में शामिल होने के लिए कह सकती है।  दिल्ली पुलिस के नोटिस पर तीखी प्रतिक्रिय व्यक्त करते हुए आप की दिल्ली इकाई के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि भारत में यह पहला मौका है जब किसी फर्जी मामले में किसी मुख्यमंत्री से पूछताछ की जा रही है। मोदीजी मुख्यमंत्री को परेशान करने के लिए पुलिस का दुरुपयोग कर रहे हैं। लेकिन लोग केजरीवाल के साथ हैं।

जांच टीम की अगुवाई कर रहे उत्तरी जिला पुलिस के एडिशनल डीसीपी हरेंद्र कुमार सिंह ने यह जानकारी दी। देश की राजधानी के मुख्यमंत्री से पुलिस द्वारा पूछताछ का संभवत: यह पहला मामला होगा। एडिशनल डीसीपी ने बताया कि मामले में हमारी टीम ने करीब 22 लोगों से पूछताछ कर काफी जानकारी हासिल की है। पुलिस अब घटना के बारे में मुख्यमंत्री केजरीवाल से पूछताछ कर यह जानना चाहती है, घटना वाली रात जो कुछ हुआ और जो आरोप लगे, उसे लेकर उनका पक्ष क्या है?

इन सवालों का जवाब पूछा जाएग
जांच टीम के प्रमुख हरेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि चूंकि यह बैठक मुख्यमंत्री की तरफ से बुलाई गई थी। लिहाजा पुलिस जानना चाहती थी कि उनकी मौजूदगी में ड्राइंग रूम में आयोजित इस बैठक के दौरान घटना होने पर उन्होंने क्या किया? उनकी भूमिका क्या रही? उन्होंने बदसलूकी करने वाले विधायकों से व अंशु प्रकाश से उस वक्त क्या कहा? इसके अलावा गिरफ्तार किए गए व पूछताछ के दायरे में आए विधायकों ने उन्हें लेकर जो भी बयान दिए, उसके बारे में भी मुख्यमंत्री से पूछताछ की जाएगी।

अबतक सभी विधायकों से पूछताछ
मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट की शिकायत के बाद पुलिस अबतक 22 लोगों से पूछताछ कर चुकी है। इसमें आम आदमी पार्टी के 11 विधायक शामिल हैं, जबकि अन्य इस मामले से जुड़े अधिकारी व कर्मी शामिल हैं। इसमें से पुलिस ने दो विधायकों को गिरफ्तार भी किया था। पुलिस ने कई आरोपियों को आमने-सामने बैठाकर भी पूछताछ की है।

जानिए पूरा मामला
दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने पुलिस को करीब तीन महीने पहले 20 फरवरी को दी शिकायत में आरोप लगाया कि उन्हें देर रात मुख्यमंत्री केजरीवाल के आवास पर बैठक के लिए बुलाया गया था। इस दौरान आम आदमी पार्टी विधायकों ने सरकारी विज्ञापन रिलीज करने का दबाव बनाया और उनके साथ मारपीट की। घटना के बाद मुख्य सचिव ने अगले दिन पुलिस में शिकायत दी थी। बैठक के दौरान ही राशन के मसले को लेकर बहस शुरू हो गई थी। आरोप है कि इस दौरान ही मुख्य सचिव की बात सुनने की बजाए, विधायकों ने उनके साथ बदसलूकी शुरू कर दी और मारपीट भी की। इसपर मुख्य सचिव किसी तरह वहां से निकल कर अपने घर चले गए थे और उन्होंने इस बारे में पुलिस से शिकायत की थी।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends