1 अप्रैल - 9नवंबर 2016 तक बैंकों में जमा हुए कैश की रिपोर्ट दें बैंक – आयकर विभाग

मेधज न्यूज़  |  Business & Economy  |  8 Jan 17,15:36:31  |  
income_tax.jpg

आयकर विभाग ने बैंकों को फरमान जारी कर कहा कि, 1 अप्रैल से 9 नवंबर 2016 तक बैंकों में कुल डिपॉजिट का रिपोर्ट पेश करें। आयकर विभाग ने बचत खातों में जमा हुए कैश की रिपोर्ट मांगी है। आय़कर विभाग ने यह रिपोर्ट इसलिए मांगी है, जिससे वह जान सके कि नोटबंदी से पहले बैंकों में कुल कितना रकम जमा हुआ था। इसके साथ ही बैंकों को यह भी निर्देश दिया गया है कि, 28 फरवरी तक सभी लोगों से पैन कार्ड अथवा फॉर्म 60 जमा करा लें।

इसे भी पढ़े - अब बैंक में देना जरूरी होगा पैन कार्ड!

आयकर विभाग के नोटिफिकेशन के मुताबिक, बैंको, को-ऑपरेटिव बैंको और पोस्ट ऑफिसों को 1 अप्रैल से 9 नवंबर 2016 तक के दौरान कुल जमा कैश का लेखा-जोखा मांगा है। इसके अलावा एनकम टैक्स एक्ट के नियम 114B के मुताबिक, बैंक अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि, वे 28 फरवरी तक खाताधारकों ने पैन कार्ड और फॉर्म 60 जमा कर लें। बता दें, पैन कॉर्ड न होने की स्थिति में फॉर्म 60 भरा जाता है।

इसे भी पढ़े - खुशखबरीः LPG की ऑनलाइन बुकिंग करिए और 5 रूपए की छूट पाइए!

इससे पहले आय़कर विभाग ने बैंकों को 10 नवंबर से 30 दिसंबर 2016 तक के दौरान बचत खातों में 2.5 लाख से अधिक और चालू खातों में 12.5 लाख से अधिक जमा कराने पर रिपोर्ट पेश करने को कहा था। इसके अलावा एक ही दिन में 50,000 से अधिक जमा कराने वालों की लिस्ट देने को कहा था। बता दें, नोटबंदी के करीब 15 लाख करोड़ रूपए के पुराने नोट बैंकिंग सिस्टम में लौट चुके हैं। इस पर आयकर विभाग ने जांच शुरू कर दिया है।

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...