अरूण जेटली ने बताया, ‘जनधन के तहत 3 साल में 30 करोड़ परिवारों ने खुलवाया बैंक अकाउंट’

Medhaj News  |  Business & Economy  |  13 Sep 17,17:02:28  |  
jan_dhan.jpg

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने आज बुधवार को वित्तीय समावेशन पर आयोजित कॉन्क्लेव में बताया कि पिछले तीन साल के दौरान ‘जनधन योजना’ के तहत 30 करोड़ परिवारों ने बैंक खाते खोले हैं। इसमें से जीरो बैलेंस बैंक खाते की संख्या तीन साल में 77 फीसदी से घटकर अब केवल 20 फीसदी पर आ गई है।

वहीं, जो अभी जीरो बैलेंस के बैंक खाते हैं, वह जल्द ही इस्तेमाल में आ जाएंगे। जी हां, जल्द ही ये बैंक खाते भी इस्तेमाल में आ जाएंगे क्योंकि डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर के तहत मिलने वाली सब्सिडी इन खातों में ही पहुंचेगी।

इसके साथ उन्होंने यह भी बताया कि जनधन योजना से पहले 42 फीसदी परिवारों के पास बैंक अकाउंट नहीं था। भारतीय नागरिकों को बैंकिंग सिस्टम से जोड़ने के लिए सरकार ने साल 2014 में इस योजना को पेश किया। इस योजना के तकरीबन 3 महीने बाद ही 76.81 फीसदी में जीरो बैलेंस से बैंक खाते खोले गये।

इस अवसर पर अरूण जेटली ने कहा कि नोटबंदी का नतीजा यह रहा कि इससे टैक्स बेस बढ़ा है। कैश कम हुआ है, कैश लेन-देन में कमी आई है।  

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...