Headline

अंतरराष्ट्रीय बाजार की वजह से बढ़ सकते है पेट्रोल-डीजल के दाम

Medhaj News 16 Feb 19 , 06:01:39 Business & Economy
crude_oil2.jpg

अंतरराष्ट्रीय बाजार में शुक्रवार को कच्चे तेल की कीमतें तीन माह के उच्च स्तर पर पहुंच गई हैं। इसका असर घरेलू बाजार पर भी दिखा और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में उछाल आया। निवेशकों को प्रोत्साहित करने के लिए तेल उत्पादक देशों के समूह ओपेक और सहयोगी रूस ने अपने उत्पादन में बड़ी कटौती शुरू कर दी है। इसके असर से ब्रेंट क्रूड के दाम शुक्रवार को इस साल के उच्च स्तर 65.10 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गए। इससे पहले 15 नवंबर 2018 के आसपास क्रूड का रेट 65 डॉलर के स्तर पर था। 1 जनवरी से अब तक यह 21% महंगा हो चुका है। भारतीय बास्केट के क्रूड के दाम में इस दौरान करीब 12% बढ़ोतरी हुई है।





पिछले पखवाड़े भारतीय बास्केट क्रूड का दाम 58.71 डॉलर प्रति बैरल था। अब 65 डॉलर के आसपास चल रहा है। इस आधार पर विशेषज्ञ मान रहे हैं कि आगे पेट्रोल-डीजल के दाम और बढ़ सकते हैं। इससे आगे चल कर खुदरा और थोक महंगाई दरों पर असर भी पड़ सकता है। हालिया रिपोर्ट में ये दरें घटी थीं। एक साल पहले भारत के लिए ईरान तीसरा बड़ा तेल सप्लायर था, लेकिन अब सातवें नंबर पर पहुंच गया है। भारत के तेल आयात में उसका हिस्सा 10% से घटकर 6% रह गया है।


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like