बाजारों में गिरावट का असर,5 मिनट में गए 4 लाख करोड़ रुपये

Medhaj news 11 Oct 18 , 06:01:38 Business & Economy
Master.jpg

अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट का असर घरेलू बाजार में भी देखने को मिला है | शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 1000 अंकों तक टूट गया जबकि निफ्टी ने 10,150 के नीचे तक गोता लगाया | सेंसेक्स और निफ्टी में 2.5 फीसदी से ज्यादा की कमजोरी के साथ कारोबार देखने को मिल रहा है | बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 31 शेयरों का सूचकांक सेंसेक्स और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों का सूचकांक निफ्टी, दोनों 2 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट के साथ खुले। इसका असर निवेशकों की संपत्ति पर पड़ा और महज 5 मिनट में 4 लाख करोड़ रुपये बाजार से बाहर हो गए।

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली दिख रही है | बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 3.3 फीसदी गिरा है, जबकि निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में 3.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है | बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स करीब 3 फीसदी लुढ़का है |

दरअसल, 697.07 की गिरावट के साथ खुलने के तुरंत बाद सेंसेक्स ने 1000 अंक का गोता लगा दिया। वहीं, निफ्टी में भी 290.3 अंक की गिरावट के साथ 10,169.80 पर कारोबार की शुरुआत हुई। आंकड़ों से पता चलता है कि शुरुआती कारोबार में बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन या मार्केट कैप (बाजार पूंजीकरण) 134.38 लाख करोड़ रुपये घट गए। बुधवार को इन कंपनियों का कुल मार्केट कैप 1 करोड़ 38 लाख 39 हजार 750 करोड़ रुपये था। ध्यान रहे कि 30 अगस्त को इन कंपनियों का मार्केट कैप 1 करोड़ 59 लाख 34 हजार 696 करोड़ के सर्वकालिक स्तर पर पहुंच गया था।

एशियाई देशों के शेयर बाजारों में गिरावट ने भारतीय बाजारों को भी प्रभावित किया। अमेरिकी शेयरों में रातोंरात गिरावट के कारण गुरुवार को एशियाई शेयर 5 प्रतिशत तक टूट गए। भारतीय बाजारों में बुधवार की बढ़त के बावजूद टेक्निकल चार्ट्स में भी बेरुखी का आलम ही दिख रहा था।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends