Headline



विश्व बैंक ने भारत की विकास दर का अनुमान घटा दिया

Medhaj News 13 Oct 19 , 06:01:39 Business & Economy
rupee.png

विश्व बैंक (World Bank) ने रविवार को चालू वित्त वर्ष में भारत का ग्रोथ रेट (India's Growth Rate) अनुमान घटा दिया है | विश्व बैंक के मुताबिक, भारत की विकास दर 6 फीसदी रह सकती है | वहीं 2018-19 में देश की विकास दर 6.9 फीसदी थी | हालांकि, साउथ एशिया इकोनॉमिक फोकस के लेटेस्ट एडिशन में विश्व बैंक का कहना है कि साल 2021 में भारत की विकास दर दोबारा 6.9 फीसदी रिकवर करने की उम्मीद है | वहीं साल 2022 में विकास दर 7.2 फीसदी रहने का अनुमान है | अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के साथ सालाना बैठक के बाद विश्व बैंक ने ये घोषणा की है | विश्व बैंक ने कहा है कि लगातार दूसरे साल भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ रेट कम हुई है | 2017-18 में यह 7.2 फीसदी थी, जो 2018-19 में घटकर 6.8 फीसदी हो गई | हालांकि मैन्युफैक्चरिंग और कंस्ट्रक्शन एक्टिविटीज बढ़ने से इंडस्ट्रियल आउटपुट ग्रोथ बढ़कर 6.9 फीसदी हो गई जबकि एग्रीकल्चर और सर्विस सेक्टर में ग्रोथ 2.9 फीसदी और 7.5 फीसदी तक रही |





इससे पहले, मूडीज इंवेस्टर्स सर्विस (Moody's Investors Service) ने भी 2019-20 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की ग्रोथ रेट (Growth Rate) का अनुमान 6.20 फीसदी से घटाकर 5.80 फीसदी कर दिया है | मूडीज का कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था नरमी (Economic Slowdown) से काफी प्रभावित है और इसके कुछ कारक दीर्घकालिक असर वाले हैं | रिजर्व बैंक (RBI) ने भी हालिया मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक (MPC) के बाद GDP ग्रोथ रेट का अनुमान घटाकर 6.10 फीसदी कर दिया है | मूडीज ने कहा कि ग्रोथ रेट बाद में तेज होकर 2020-21 में 6.6 फीसदी और मध्यम अवधि में करीब 7 फीसदी हो जाएगी | उसने कहा, हम अगले दो साल जीडीपी की वास्तविक ग्रोथ और महंगाई में धीमे सुधार की उम्मीद करते हैं | हमने दोनों के लिए अपना पूर्वानुमान घटा दिया है | दो साल पहले की स्थिति से तुलना करें तो जीडीपी ग्रोथ रेट 8 फीसदी या इससे अधिक बने रहने की उम्मीद कम हो गई है | इससे पहले एशियाई विकास बैंक (ADB) और ओईसीडी ने भी भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ का अनुमान कम कर दिया था |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends