कोरोना काल में रतन टाटा कैसे बने नंबर 1,जाने सक्सेस स्टोरी

छह माह पहले Reliance Group ने TATA को पछाड़कर देश के सबसे बड़े कारोबारी समूह का दर्जा प्राप्त किया था। लेकिन Lockdown के बाद TATA ने एक बार फिर अपनी Software company tcs के जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत फिर यह दर्जा हासिल कर लिया।HDFC bank दूसरे नंबर पर और Reliance तीसरे नंबर पर है।वित्तीय शेयरों में आई तेजी के चलते HDFC समूह देश का दूसरा सबसे बड़ा समूह बन गया है। हालांकि, कंपनियों की बात की जाए तो Reliance Industries  अब भी देश की सबसे बड़ी कंपनी बनी हुई है। September तक Reliance के share के भाव बढ़ते रहे और 16 September को Reliance का Market cap 16 लाख करोड़ के रिकॉर्ड स्तर को पार कर गया। लेकिन, इसके बाद Reliance  के share गिरने लगे और अब उसका Market cap 12.22 लाख करोड़ रुपए रह गया।

इसी बीच टाटा ग्रुप की कंपनियों TCS, Tata motors और Tata steel  में आई तेजी के चलते समूह का कुल Market cap  16.69 लाख करोड़ रु. के पार पहुंच गया, जो रिलायंस समूह से करीब 36% ज्यादा है। TCS ने 2020 में कई बड़े सौदे किए। share  बाजार में भी इसके शेयर की बढ़ती मांग ने इसे नई ऊंचाई पर पहुंचा दिया। इन 3 कंपनियों ने रतन टाटा के टाटा समूह को एक बार फिर नंबर 1 के दर्जे तक पहुंचा दिया।


    Share this story