अलग-अलग फैसले ले कर एक-दूसरे की मुश्किल बढ़ा रहे चाचा-भतीजे

medhaj news 12 Dec 16,13:46:52 Election
sp.jpg

भले ही इन दिनों समाजवादी पार्टी में शांति का वास नजर आ रहा हो, लेकिन अंदर ही अंदर पार्टी में शीतयुद्ध जैसी स्थिति दिखाई पड़ रही है। चाचा-भतीजे के बीच चल अनबन बढ़ती ही जा रही है। भले ही सामने एक-दूसरे को उन्होंने अपना लिया हो, लेकिन दोनों अलग-अलग फैसले ले कर एक-दूसरे को चिढ़ाने की कोशिश में लगे हैं।

अखिलेश ने शिवपाल यादव को चिढ़ाने व परेशान करने के लिए उनके विरोधी को राज्यमंत्री का दर्जा दे रहे हैं। उन्होंने जावेद आब्दी को सिचाईं विभाग में सलाहकार पद सौंप दिया है।

इसे भी पढ़े- 5 राज्यों में NOTA का बढ़ा कोटा

शिवपाल जावेद आब्दी की नौकझोंक को तो दुनिया ने देखा है, शिवपाल यादव ने रजत जयंती कार्यक्रम में अखिलेश यादव के पक्ष में नारेबाजी करते हुए उन्हें धक्का मारा था।

अखिलेश द्वारा लिए इस फैसले को देखकर चाचा शिवपाल कैसे पीछे रहते। उन्होंने भी समय देखकर बदला ले लिया। 23 प्रत्याशियों वाली लिस्ट में उन लोगों को शामिल किया, जिनका विरोध अखिलेश करते हैं। यही नहीं जिन लोगों का अखिलेश स्पोर्ट करते हैं, उन लोगों की टिकट काटे बिना चाचा जी नहीं माने।   

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like