गोरखपुर-फूलपुर उपचुनाव भाजपा के लिए एहम... जाने यहाँ

medhaj news 9 Mar 18,19:14:00 Election
1.jpg

लगातार जीत से अति-आत्मविश्वास की शिकार भाजपा के लिए यह उपचुनाव आसान नहीं रह गया है| दोनों उपचुनाव शुरू से ही पार्टी के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं क्योंकि यहां के प्रतिकूल परिणाम उसे बहुत नुकसान पहुंचा सकते हैं| भाजपा, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी चारों ही पार्टियां अपने-अपने तरीके से चुनावी दांव खेल रहे हैं| आइए जानते हैं पार्टियों की रणनीति और वहां का जातिगत समीकरण| भाजपा ने कौशलेंद्र सिंह पटेल को अपना उम्मीदवार बनाया है, जबकि समाजवादी पार्टी ने नागेंद्र प्रताप पटेल पर दांव आजमाया है|  वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने मनोज मिश्र के कंधों पर अपनी पार्टी की उम्मीदों को रखा है| इसके पीछे उम्मीद यह की जा रही है कि ब्राह्मण वोटरों का साथ पार्टी को मिलेगा| इसके साथ ही कांग्रेस ने यह उम्मीद भी जताई कि मुस्लिम और वैश्य वोटर भी उनमें अपनी दिलचस्पी दिखाएंगे| पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) ने उत्तर प्रदेश के फूलपुर और गोरखपुर में होने जा रहे लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) को समर्थन देने का फैसला लिया है. पार्टी ने राज्यसभा और विधान परिषद के चुनाव में भी सपा और बसपा के पक्ष में मतदान करने का फैसला लिया है. रालोद के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल दुबे ने कहा, "रोलोद के राष्ट्रीय ने केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के साथ की गई वादाखिलाफी के खिलाफ और सांप्रदायिकता के फैलाव को रोकने के लिए 'विपक्षी एकता' की पहल को मजबूत करने के मकसद से फूलपुर और गोरखपुर में होने जा रहे लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी को समर्थन देने का निर्णय लिया है|"

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story