त्रिपुरा ,मेघालय और नागालैंड में अबकी बार किसकी सरकार ..????

medhaj news 3 Mar 18,15:31:58 Election
exit_polls.jpg

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव के आज नतीजे आएंगे, ऐसे में इस नतीजों पर हर किसी की नजर होगी। त्रिपुरा चुनाव के नतीजों का असर ना सिर्फ यहां के लोगों पर होगा बल्कि इसका प्रभाव राष्ट्रीय राजनीति पर भी देखने को मिलेगा। यह चुनाव ना सिर्फ राष्ट्रीय राजनीति बल्कि सीपीआई (एम) की आंतरिक राजनीति के लिए भी काफी अहम है। सीपीआईएम यहां पिछले 25 वर्षों से सत्ता में है, ऐसे में जिस तरह से चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजे सामने आए हैं वह इस बात की ओर इशारा करते हैं कि भाजपां यहां बड़ी पार्टी के रुप में उभरेगी।

त्रिपुरा चुनाव
त्रिपुरा में सत्ताधारी सीपीएम हारी तो लेफ्ट का ढाई दशक पुराना किला ढहेगा| सीपीएम हारी हारी तो सिर्फ केरल में लेफ्ट की सरकार बचेगी. हार से लेफ्ट पार्टी में नेतृत्व पर सवाल उठ सकते हैं| बीजेपी की बात करें तो अगर यहां पार्टी जीतती है तो पूर्वोत्तर में एक और राज्य में कामयाबी हासिल कर लेगी|

मेघायल चुनाव
मेघालय में कांग्रेस ने 59 उम्मीदवार उतारे थे वहीं बीजेपी ने 47 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा| मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा दो सीट से चुनाव लड़ रहे हैं|  मेघालय में कांग्रेस अपना किला बचाने की जुगत में है| पार्टी की वहां सरकार है. अगर मेघालय में हार गई तो पूरे देश में संदेश जाएगा कि एक और राज्य से पार्टी समाप्त हो गई|

नागालैंड चुनाव
नागालैंड में इस बार चुनाव बेहद अस्थिर माहौल में हुआ है| नागालैंड में बीजेपी ने एनडीपीपी के साथ हाथ मिलाया है| एनडीपीपी पार्टी पूर्व मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने बनाई थी| नागालैंड में एनडीपीपी 40 सीट और बीजेपी 20 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं|

एग्जिट पोल्स की माने तो इन तीनों राज्यों में बीजेपी एक बड़ी ताकत के रूप में उभरेगी. सबसे नजरें त्रिपुरा पर टिकीं रहेंगी, जहां पिछले 25 साल से लेफ्ट की सरकार है| केरल के अलावा लेफ्ट की सरकार बस इसी राज्य में है|

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends