उत्तर प्रदेश के सभी स्कूल कॉलेजों को 22 मार्च तक के लिए बंद

Medhaj News 13 Mar 20 , 06:01:40 Governance
yy.jpg

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी कोरोनावायरस को महामारी की श्रेणी में रख दिया है। इसके साथ ही प्रदेश के सभी स्कूल कॉलेजों को 22 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है लेकिन जिन स्कूलों में परीक्षा चल रही है वहां परीक्षा खत्म होने के बाद उन्हें बंद किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक के बाद प्रेसवार्ता में बताया कि 23 मार्च को समीक्षा के बाद इस पर आगे निर्णय लिया जाएगा। बता दें कि इसके पहले दिल्ली व हरियाणा में इसे महामारी घोषित किया जा चुका है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि इसकी गंभीरता को देखते हुए एडवाइजरी जारी कर दी गई थी। सीएम ने कहा कि हमने 4100 चिकित्सकों को कोरोना वायरस के बचाव को लेकर प्रशिक्षित भी किया है। हर जनपद में आइसोलेशन वार्ड बनाया है, जिसमें 830 बेड सुरक्षित हैं। वहीं 24 मेडिकल कॉलेजों में भी 448 बेड सुरक्षित रखे रखे गए हैं। सीएम ने कहा कि यूपी में अब तक कुल 11 केस पॉजिटिव पाए गए हैं। जिनमें 7 आगरा, 2 गाजियाबाद और एक लखनऊ व एक नोएडा का है। इनमें से एक मरीज का लखनऊ के केजीएमयू में ही उपचार चल रहा है। वहीं बाकी सभी मरीजों का इलाज दिल्ली में किया जा रहा है।





लखनऊ में केजीएमयू और पीजीआई व अलीगढ़ में जांच की सुविधा दी गई है। गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज और बीएचयू में भी लैब तैयार की जा रही है। सीएम ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के साथ ही आईएमए के सहयोग से आज हमने अपनी पूरी व्यवस्था की समीक्षा की है। मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि कोरोना वायरस के खतरे का सामना करने के लिए सभी मेडिकल स्टाफ को ट्रेनिंग दी जा रही है। जागरुकता को बढ़ावा देने के लिए जगह-जगह होर्डिंग्स लगाई गई है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि जो लोग संदिग्ध या संक्रमित हैं सिर्फ वो ही मास्क लगाए और दहशत न फैलाएं। आसपास साफ-सफाई रखें। बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के संक्रमण पर नियंत्रण के लिए शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग समेत कई अन्य विभागों की बैठक बुलाई थी जिसके बाद ये फैसला लिया गया। ओमान व सऊदी अरब से बृहस्पतिवार को राजधानी लखनऊ लौटे तीन यात्रियों में कोरोना के लक्षण मिलने के बाद लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जांच के लिए सैंपल केजीएमयू भेजा गया है।





वहीं, केजीएमयू के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कोरोना संक्रमित महिला डॉक्टर की हालत स्थिर है। कोरोना वायरस के खौफ के बीच देश में पहली मौत की पुष्टि हुई है। कर्नाटक में कलबुर्गी के 76 वर्षीय बुजुर्ग की मौत कोरोना के कारण ही हुई थी। बृहस्पतिवार को आई जांच रिपोर्ट में उसके संक्रमित होने का खुलासा हुआ। इस बीच, 14 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित मरीजों की संख्या 75 तक पहुंच गई। हरियाणा और दिल्ली सरकार ने एहतियात बरतते हुए इसे महामारी घोषित कर दिया है। दिल्ली के स्कूल, कॉलेज व सिनेमाघर और उत्तराखंड व जम्मू-कश्मीर में सभी स्कूल 31 मार्च तक बंद कर दिए गए हैं। केंद्र सरकार ने राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों को महामारी रोग अधिनियम की धारा दो के प्रावधान लागू करने को कहा है। खतरे को देखते हुए भारत ने पूरी दुनिया से अपने को अलग कर लिया है। शुक्रवार शाम 5.30 बजे से सभी देशों का वीजा निरस्त करने का फैसला अमल में आ जाएगा। केंद्र सरकार ने मंत्रियों के विदेशी दौरों पर भी रोक लगा दी है। नए मामलों में नौ महाराष्ट्र व एक-एक दिल्ली, लद्दाख व आंध्र प्रदेश और 2 यूपी के हैं। केरल में 17, यूपी में 11 व महाराष्ट्र में 11 मरीज आ चुके हैं। 75 में से 17 विदेशी सैलानी हैं। इनमें 16 इतालवी हैं।


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends