केंद्रीय मंत्री उमा भारती का दावा ,आजादी के बाद नेहरु ने भी मांगी थी RSS से मदद

medhaj news 14 Feb 18 , 06:01:38 Governance
bharti.jpg

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा है कि आजादी के बाद जब पाकिस्तान ने भारत पर हमले किए थे तब देश के पहले और तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने आरएसएस से मदद मांगी थी।उन्होंने सेना को लेकर आरएसएस प्रमुख द्वारा की गई विवादित टिप्पणी के बीच यह दावा किया| हालांकि, उमा ने भागवत की टिप्पणी पर सीधा सीधा कुछ कहने से इनकार कर दिया| उन्होंने कहा कि आजादी के बाद कश्मीर के राजा महाराजा हरि सिंह संधि पर हस्ताक्षर नहीं कर रहे थे और शेख अब्दुल्ला ने हस्ताक्षर करने के लिए उनपर दबाव डाला|उमा ने कहा कि नेहरू दुविधा में थे और फिर पाकिस्तान ने एकाएक हमला कर दिया और उसके सैनिक उधमपुर की तरफ बढ़ने लगे। तभी गोवलकर से सहायता मांगी थी।केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘उस समय नेहरूजी ने गुरू गोवलकर (तत्कालीन आरएसएस प्रमुख एम एस गोवलकर) आरएसएस के स्वयंसेवकों की मदद मांगी, आरएसएस स्वयंसेवक मदद के लिए जम्मू-कश्मीर गए थे|’’ पिछले दिनों ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोकसभा में अपने भाषण के दौरान जवाहर लाल नेहरू की कश्मीर नीति पर हमला बोला था| उन्होंने कहा था कि अगर सरदार पटेल देश के प्रधानमंत्री होते तो कश्मीर पाकिस्तान के पास नहीं जाता|  जिस बयान पर बवाल हो रहा है वो तब शुरुर हुआ जब बीते रविवार को बिहार के मुज्जफरपुर में स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए मोहन भागवत ने कहा था कि देश को अगर हमारी जरूरत पड़े और हमारा संविधान और कानून इजाजत दे हम तुरंत तैयार हो जाएंगे|

                  

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story