हाईकोर्ट का आदेश – किसने छोड़ा ससुराल से तय नहीं होगा तलाक!

मेधज न्यूज़ 8 Jan 17 , 06:01:37 Governance
cuort.jpg

दिल्ली हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को पलटते हुए पति को दिया हुआ तलाक रद्द कर दिया। हाईकोर्ट ने अपने फैसले में साफ कर दिया कि, पति या पत्नी, दोनों में से कोई एक केवल इस आधार पर ही छोड़ने का फैसला नहीं कर सकता कि, ससुराल पहले किसने छोड़ा। कोर्ट ने साफ किया कि, विवाहित जोड़े में से एक का आचरण दूसरे को अलग करने के लिए बाध्य नहीं कर सकता है।

जस्टिस प्रदीप नंद्राजोग और जस्टिस योगेश खन्ना की पीठ ने कहा, परित्याग एक जगह से वापसी नहीं है। बल्कि, यह विवाह के सभी कर्तव्यों का त्याग है और पति या पत्नी में से किसी एक की ओर से बिना किसी उचित वजह या दूसरे की बिना सहमति उसे छोड़ देना।  

इसे भी पढ़े - 1 अप्रैल - 9नवंबर 2016 तक बैंकों में जमा हुए कैश की रिपोर्ट दें बैंक – आयकर विभाग

बता दें, हाईकोर्ट ने एक मामले में व्यवस्था दी, जिसमें उसने एक परिवार अदालत में पत्नी द्वारा परित्याग किए जाने के आधार पर पति को दिया हुआ तलाक रद्द कर

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like