Headline


पटना में बारिश बंद, भारी बारिश के कारण सड़कों पर तैरने लगी थी नावें

Medhaj News 30 Sep 19 , 06:01:39 Governance
nearly_110_dead_in_.jpg



पटना(Patna) की सड़कों पर शनिवार से ही नावें चलनी लगी थीं। रविवार को भी दिनभर लगातार तेज बारिश होती रही। अब वर्षा का पानी शहर के सभी मुहल्लों में फैल गया है। निचले इलाकों जैसे कंकड़बाग, राजेंद्र नगर, पटना सिटी जलमग्न हैं. रविवार तो पटना में बीते 24 घंटों के दौरान 116 मिलीमीटर बारिश वर्षा हुई है।  शनिवार तक यह रिकार्ड पहले से 205 मीमी था। वैसे तो पिछले 12 घंटों से बारिश रुकी है। मगर मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक सोमवार को भी शहर में रेड अलर्ट है। बारिश थमने को बाद लोगों को उम्मीद है कि जलजमाव कम होगा. मगर चिंता इस बात की है कि शहर में जमा पानी जाएगा कहां. पटना से सिटी सारी नदियाँ गंगा, पुनपुन, गंडक, सोन पहले से उफान पर हैं। जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है. पानी के दबाव के कारण ड्रेनेज सिस्टम फेल हो चुका है।





नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने कल शहर के पंप हाउसों का जायजा लेने के दौरान मीडिया से बातचीत में कहा कि अगर बारिश थम जाती है तो 48 घंटे के दौरान शहर से पानी निकाल दिया जाएगा। मगर इस सवाल पर कि पानी निकाल कर कहां छोड़ा जाएगा इसका वे जवाब नहीं दे सके। कल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बारिश से उपजे हालात के कारण सभी विभागों के अधिकारियों के साथ आपात बैठक की।





मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक संभावित सूखे से निपटने की तैयारी कर रही सरकार के लिए बारिश चुनौती बन गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Nitish Kumar) को भी कल यह बात स्वीकार करनी पड़ी। उन्होंने इसका कारण जलवायु परिवर्तन (Climate change) को बताते हुए कहा, हमलोग सुखे का अनुमान लगा रहे थे। लेकिन इतनी बारिश हो गई. नेचर के आगे किसी का नहीं चलता। लोगों को हौसला बुलंद रखना होगा।





सोशल मीडिया पर नीतीश कुमार के इस बयान की यह कहकर आलोचना की जा रही है कि सुशासन की सरकार बारिश से निपटने की प्लानिंग भी नहीं कर सकी। हालांकि मुख्यमंत्री अब यह जरूर कहते हैं कि आपदा और प्रबंधन विभाग पूरी तरह मुस्तैद है. हरसंभव राहत और बचाव कार्य चलाए जा रहे हैं। लेकिन पटना की एक बड़ी आबादी अभी भी अपने घरों में फंसी है। कई घरों के ग्राउंड फ्लोर पर पानी है।


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends