Headline


इस नियम के बदलने से कांग्रेस को लग सकता है एक और झटका

Medhaj News 1 Aug 19 , 06:01:39 Governance
jaliyawal_bag.png

बीजेपी ट्रिपल तलाक़ बिल पास कराने के बाद अब कांग्रेस को एक और झटका देने की तैयारी में है | सरकार जल्द ही जालियांवाला बाग ट्रस्ट राष्ट्रीय स्मारक संशोधन बिल पास करा सकती है | लोकसभा में इस बिल को पेश किया जा चुका है | इस बिल के पास होने से कांग्रेस अध्यक्ष सीधे इसके ट्रस्टी नहीं बन पाएंगे | अब तक के नियम के मुताबिक जो भी कांग्रेस अध्यक्ष होता है, वो अपने-आप इस ट्रस्ट के ट्रस्टियों में शुमार हो जाता है | सरकार का कहना है कि पिछले चालीस-पचास सालों में कांग्रेस पार्टी ने इस राष्ट्रीय स्मारक के लिए कुछ नहीं किया | सरकार चाहती है कि जो भी कांग्रेस अध्यक्ष हो, उसके अपने आप ट्रस्टी बनने के नियम को बदला जाए | इस ट्रस्ट के ट्रस्टियों में चैयरमेन के रूप में प्रधानमंत्री होते हैं | उनके अलावा संस्कृति मंत्रालय के मंत्री, लोकसभा में विपक्ष के नेता, पंजाब के राज्यपाल, पंजाब के मुख्यमंत्री के अलावा जो भी कांग्रेस अध्यक्ष हो, वो सभी सदस्य रहते हैं | साथ ही तीन लोगों को ट्रस्टी के रूप में केंद्र सरकार नामांकित करती है | अगर ये बिल पास हो जाता है तो कांग्रेस अध्यक्ष अपने आप इस ट्रस्ट के ट्रस्टी नहीं हो सकेंगे | कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने सरकार से अनुरोध किया है कि वो इसमें बदलाव न करें | पिछली बार इस बिल को लोकसभा में पास किया गया था | लेकिन राज्यसभा में बहुमत न होने के चलते ये बिल लटक गया था | अब ट्रिपल तलाक बिल पास कराने के बाद उम्मीद की जा रही है कि जालियांवाला बाग ट्रस्ट राष्ट्रीय स्मारक संशोधन बिल पास कराने में भी सरकार को कई दिककत नहीं आएगी | बता दें कि इस साल जालियांवाला बाग गोलीकांड के सौ साल पूरे हो रहे हैं |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends