IMF ने कहा-विकास में भारत चीन को पीछे छोड़ सकता है

Medhaj news 9 Oct 18 , 06:01:38 Governance
economy.jpg

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष(आईएमएफ) की ताजा रिपोर्ट ने नरेंद्र मोदी सरकार को राहत की सांस दी है। इस अंतरराष्ट्रीय संस्था ने वर्ष 2018 के लिए जहां भारत की विकास दर के 7.3 प्रतिशत तक रहने का अनुमान लगाया है, जबकि वित्तीय वर्ष 2019 के लिए यह अनुमान 7.4 प्रतिशत कर दिया है | वित्तीय वर्ष 2017 में भारत की विकास दर 6.7 प्रतिशत रही थी | भारत का मध्यम अवधि का विकास मजबूत है और यह 7 प्रतिशत पर है | इस मजबूती में वर्तमान में चल रहे ढांचागत सुधार की बड़ी भूमिका है | आईएमएफ ने कहा है कि अगर अनुमान सही रहा तो भारत फिर से दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बना रहेगा |

हालांकि वर्ष 2017 में चीन दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था थी | वैसे भारत से महज 0.2 प्रतिशत ही ज्यादा थी | आईएमएफ ने अप्रैल के मुकाबले भारत और चीन के विकास दर के अनुमान में मामूली कटौती कर दी है | भारत के लिए यह 0.4 प्रतिशत और चीन के लिए 0.32 प्रतिशत कम किया गया है |

विश्व बैंक ने कहा है कि भारत की आर्थिक वृद्धि में मजबूती आ रही है और चालू वित्त वर्ष में इसके 7.3 प्रतिशत रहने का अनुमान है | इसके बाद अगले दो वर्षों में यह और बढ़कर 7.5 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी | विश्व बैंक ने अपनी ताजा रिपोर्ट में यह अनुमान जताया है | विश्व बैंक ने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था नोटबंदी और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की अस्थायी बाधाओं के प्रभावों से निकल चुकी है | एशिया रिपोर्ट में कहा - जीएसटी व्यवस्था के सुचारू रूप से चलने और बैंकों के पुनर्पूंजीकरण से भारत में आर्थिक वृद्धि को मजबूती मिल रही है और आने वाले समय में इसमें और तेजी आने का अनुमान है |

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like