सबका साथ-सबका विकास: लखनऊ में उर्दू यूनिवर्सिटी खोलने के लिए जमीन देंगे योगी आदित्यनाथ

मेधज न्यूज 15 Apr 17 , 06:01:37 Governance
yogi_urdu.jpg

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हिंदुत्ववादी छवि के रूप में जाना जाता है, लेकिन मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही योगी आदित्यनाथ का एक अलग ही रूप देखने को मिल रहा है। पहले हजरत अली के जन्मदिन पर दी देशवासियों को बधाई फिर बैसाखी के अवसर पर गुरूद्वारा जाकर मत्था टेका। इस अवसर पर उन्होंने देशवासियों को धर्म और जाति से आगे आकर बढ़ने का संदेश भी दिया था।

अब खबर आ रही है कि योगी आदित्यनाथ ने मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी को बनवाने के लिए लखनऊ कैंपस में जमीन दे सकते हैं। जी हां, बताया जा रहा है कि विश्वविद्याल के कुलपति जफर सरेशवाला ने पिछले हफ्ते योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और परिसर के लिए जगह उपलब्ध कराने का अनुरोध किया।

माना जा रहा है कि उन्हें योगी आदित्यनाथ की तरफ से सकारात्मक जवाब मिला है।

गौरतलब है कि जफर सरेशवाला 2015 में मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी के कुलपित नियुक्त किए गए थे। वहीं, इस विश्वविद्यालय की स्थापना 1998 में की गई थी। बता दें, पूरे देश में इस यूनिवर्सिटी के अभी 11 कैंपस हैं।

खास बात यह है कि उत्तर प्रदेश में कोई भी कैंपस नहीं है। सरेशवाला ने इसकी पहल करते हुए सीएम योगी से मुलाकात की थी और यूपी में विश्वविद्यालय बनवाने के लिए जमीन मांगी है। 

इसे भी पढ़ें- योगी ने दी हजरत अली के जन्मदिन की बधाई, लोग बोले 'कुर्सी का लालच बोल रहा है'

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like