केवल महिलाओं को ही नहीं पुरूषों को भी होता है स्तन कैंसर, पढ़ें पूरी खबर...

Medhaj News 30 Oct 17,22:51:13 Health
men.jpg

पुरूषों के होने वाले स्तन कैंसर के बारे में लोगों को जानकारी बहुत कम है, क्योंकि आमतौर पर यह समस्या केवल महिलाओं में ही देखी जाती है। ऐसा देखा गया है कि पुरूषों में भी स्तन कैंसर होने की संभावना होती है। इसलिए पुरूषों को भी इस बीमारी के प्रति जागारूक रहना चाहिए और समय- समय पर इसकी जांच भी करानी चाहिए।

कैसे होता है पुरूषों में स्तन कैंसर

पुरूषों के स्तन महि‍लाओं की तरह नहीं होते, मगर पुरूषों के पास स्‍तन ऊतक ( breast tissues) जरूर होते हैं।  लेकिन पुरूषों को भी स्‍तन कैंसर होने की संभावना होती है। आनुवांशिकी महिलाओं के स्तन कैंसर में बड़ी भूमिका नहीं निभाती, लेकिन मर्दो में निभाती है। आनुवांशिकी विचलन जैसे क्लेनफेल्टर सिंड्रोम (बीमारी)की स्थिति से मर्दो में एस्ट्रोजेन ( हार्मोन) के स्तर बढ़ता है। यह चीजें स्तन कैंसर के खतरे को और भी ज्यादा बढ़ा देती हैं।

पुरूषों में स्तन कैंसर के और भी कई कारण है-

- अंडकोश में सूजन स्तन कैंसर के खतरे बढ़ा सकता है।

- खाने-पीने की खराब आदतों और अधिक मोटापा।

- एल्कोहल का ज्यादा सेवन करना या धूम्रपान करना।

- हार्मोनल दवाइयों या हर्बल पूरक आहार के सेवन की लत।

- छाती का पहले रेडिएशन टेस्ट या इलाज हो चुका हो।

- जो लोग (खासतौर पर नौजवान) हॉडकिंग्स रोग जैसे हालात में इलाज के लिए रेडिएशन थेरेपी से गुजरते हैं। उनमें स्तन कैंसर के होने की आशंका और भी ज्यादा होती है। ऐसे व्यक्तियों को ज्यादा सतर्क रहना चाहिए।

स्तन कैंसर के लक्षण

- स्तन में गांठ सबसे महत्वपूर्ण संकेत है।

- स्तन क्षेत्र या निपल के चारों ओर की त्वचा पर गड्ढ़े पड़ना या उसका बदलना।

- निपल में दर्द और डिस्चार्ज होना, निपल के चारों तरफ जख्म होना, लिंफ नोड्स का अंडरआर्म और एरोला क्षेत्र तक बढ़ना।

- मर्दो में स्तन-वृद्धि को 'गाइनेकोमास्टिया' कहते हैं,

डॉक्टरों का मानना है कि ज्यादातर मामलों में पुरुषों में स्तन कैंसर का रोग-निदान महिलाओं की तुलना में विकसित स्तर पर होता है। शुरू में पता चल जाना और तेजी से इसका इलाज कराना ही पुरुष स्तन कैंसर के मामलों को घटा सकता है।

कैंसर रोकने के उपाय

-        स्तन कैंसर में यह पता लगाना जरूरी है कि आपके परिवार में कभी किसी को स्तन कैंसर हुआ है या नहीं। कम से कम 10% स्तन कैंसर आनुवांशिकता की वजह से होते है।

-        मोटापा और ज्यादा वजन होना स्तन कैंसर, हृदय रोग और कई सारे बीमारियों को बढ़ावा देता है। शारीरिक गतिविधियां (EXERCISE)  आपको एक स्वस्थ वजन प्रदान करने में मदद करती हैं, जिससे स्तन कैंसर और अन्य बीमारियों की रोकथाम में भी मदद मिलेगी।

-        अपने आहार में सफेद आटा, सफेद चावल, आलू, चीनी, वगैरह को कम करें, क्योंकि ये शरीर में हार्मोन संबंधी बदलाव लाते हैं, जो स्तन उत्तक में कोशिका वृद्धि का कारण बनते हैं। इसकी बजाय, मोटा अनाज, ज्यादा फाइबर वाले खाद्य पदार्थ लें।

-        व्यक्ति को ज्यादा शराब का सेवन और ध्रूमपान से परहेज करना चाहिए। यह भी स्तन कैंसर को बढावा देता है।

-        हमेशा नियमित रूप से चेकअप जरूर कराएं। इससे आप शरीर में पनपती बीमारियों के बारे में जानेंगे और फिर आप अपनी देखभाल कर सकते हैं।

-        अगर स्क्रीनिंग टेस्ट में स्तन कैंसर की बात आती है, तो इसकी पुष्टि के लिए कई सारी जांचें हैं और इलाज की व्यवस्था भी है।

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like