जल्दबाजी में ब्रेकफास्ट न छोडे नहीं तो लग सकती है ये बीमारियाँ

medhaj news 13 Feb 18,18:33:40 Health
health_mistakes.jpg

शरीर को ठीक से काम करने के लिए एनर्जी की जरूरत होती है और एनर्जी आती है भोजन से। इसलिए इंसान आमतौर पर दिन में तीन-चार बार खाता है ताकि शरीर में ऊर्जा का लेवल मेनटेन रहे। इन सबमें सबसे महत्वपूर्ण होता है सुबह का नाश्ता, क्योंकि रात के भोजन से मिली ऊर्जा और पोषक तत्वों को शरीर तमाम क्रियाओं में खर्च कर देता है, जिसके बाद उसे सुबह फिर से ऊर्जा की जरूरत पड़ती है इसीलिए हमें भूख लगती है। सुबह ऑफिस जाना हो, स्कूल जाना हो या किसी काम से जाना हो, अक्सर जल्दबाजी के कारण बहुत से लोग सुबह का नाश्ता छोड़ देते हैं। शरीर पर तुरंत इसका प्रभाव भले न दिखाई दे लेकिन सुबह का नाश्ता छोड़ना शरीर के लिए बहुत खतरनाक है और बाद में आपको इससे कई बड़ी परेशानियां हो सकती हैं। हम आपको बता रहे हैं कि सुबह का नाश्ता छोड़ने से शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है कई लोग सोचते हैं कि कम खाने या न खाने से मोटापा घटता है इसलिए वो डाइटिंग करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि सुबह का नाश्ता छोड़ देने या आधा-अधूरा करने से आपका शरीर थुलथुला होने की संभावना बढ़ जाती है। ये मोटापे से भी खराब है क्योंकि आमतौर पर मोटापे में आपका पेट निकलता है या शरीर की चर्बी बढ़ती है जबकि नाश्ता छोड़ने से होने वाले थुलथुलेपन में आपका शरीर अंदर से कमजोर होता जाता है और मांस हड्डियों को छोड़कर बाहर लटकने लगते हैं। इसकी वजह से कई बार लोगों में बुढ़ापे के लक्षण पहले ही दिखने लगते हैं। अगर आप सुबह का नाश्ता छोड़ देते हैं तो आपको दिनभर सुस्ती और थकान महसूस होगी, भले ही आपने खाने में भरपेट भोजन कर लिया हो। असल में सुबह के समय पेट पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए तैयार होता है। ऐसे में अगर आप नाश्ता छोड़ देते हैं तो इससे शरीर को दिन भर के काम के लिए ऊर्जा नहीं मिल पाती है और आपको दिनभर सुस्ती और थकान महसूस होती है। ब्लड शुगर के लो होने को मेडिकल की भाषा में हाइपोग्लीसीमिया कहते हैं। अगर आप अक्सर सुबह का नाश्ता छोड़ देते हैं तो आपके ब्लड में शुगर लेवल बहुत ज्यादा गिर जाता है क्योंकि आमतौर पर आपने 8-10 घंटे से कुछ नहीं खाया होता है। ब्लड शुगर का स्तर गिरने से आपके दिमाग में ऐसे हार्मोन्स का उत्सर्जन शुरू हो जाता है जो सिर दर्द और तनाव के लिए जिम्मेदार होती हैं।

 

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends