राफेल डील:बयान के बाद दोनों देशों के संबंधों में खटास आने का डर

Medhaj news 24 Sep 18,20:03:08 Health
Rafel_Deal.jpg

फ्रांस की ओर से रविवार को कहा गया कि पूर्व राष्ट्रपति के राफेल डील के संबंध में दिए गए बयान से दोनों देशों के संबंधों में खटास आने का डर है। ओलांद ने पिछले साल मई में पद छोड़ दिया था। उन्होंने शुक्रवार को कहा था कि जेट मैन्युफैक्चरर कंपनी दैसॉ एविएशन को लोकल पार्टनर चुनने के लिए कोई भी विकल्प नहीं दिया गया था।

मोदी सरकार ने दैसॉ से 36 राफेल जेट खरीदने का फैसला किया है। इसके लिए दैसॉ ने लोकल पार्टनर के तौर पर सरकार द्वारा संचालित एचएएल की जगह बिजनसमैन अनिल अंबानी की कंपनी को चुना। इसी कारण भारत में विपक्षी दल सरकार पर हमले कर रहे हैं। फ्रांस के जूनियर विदेश मंत्री जीन बैप्टिस्टे ने ओलांद के बारे में कहा-मुझे लगता है कि इस तरह के बयान फ्रांस और भारत के बीच के अंतरराष्ट्रीय संबंधों को प्रभावित करते हैं। इससे किसी का कोई फायदा नहीं होगा, यहां तक कि फ्रांस को तो इससे बिल्कुल लाभ नहीं होगा।

ये भी पढ़े - पीएम मोदी ने दिया जनता को 'आयुष्मान भारत' की सौगात, 10 करोड़ परिवारों को मिलेगा 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा

ओलांद की अब इस घोषणा से कि दसॉल्ट के समक्ष इसमें कोई विकल्प नहीं था, मामले को और हवा मिल गई। भारत में विपक्ष इस मुद्दे को लेकर सरकार पर हमलावर है। विपक्ष का आरोप है कि सरकार ने मामले में अनिल अंबानी की मदद की है। अंबानी उसी राज्य से आते हैं जहां से मोदी आते हैं और वह उनका समर्थक है। ओलांद के बयान पर रविवार को फ्रांस के कनिष्क विदेश मंत्री जीन-बापटिस्ट लीमोयने ने कहा, मेरा मानना है कि यह जो बयान दिया गया है। इससे किसी का भला नहीं होने वाला है और सबसे बड़ी बात है कि इससे फ्रांस की कोई फायदा नहीं होने वाला है।

रेडियो जे को दिए एक साक्षात्कार में लीमोयने ने कहा, कोई भी जब पद पर नहीं है और वह ऐसा वक्तव्य देता है जिससे भारत में विवाद खड़ा होता है और भारत और फ्रांस के बीच रणनीतिक भागीदारी को नुकसान पहुंचाता है यह वास्तव में उचित नहीं है। ओलांद का यह बयान खुद के बचाव में आया है। उन पर आरोप है कि उनकी गर्लफ्रेंड जूली गेएट ने 2016 में एक फिल्म का निर्माण अंबानी की कंपनी के सहयोग से किया। यह निश्चित तौर पर हितों के टकराव को दिखाता है।


 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like