बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा की 42 हजार कॉपियां चोरी

Medhaj news 20 Jun 18 , 06:01:38 India
bihar_bord.jpg

बिहार बोर्ड मैट्रिक के नतीजे आज नहीं बल्कि 26 जून को जारी होंगे। गोपालगंज के एसएस गर्ल्‍स प्लस टू स्कूल के स्ट्रांग रूम से गायब हुई मैट्रिक की उत्तर पुस्तिकाओं के मामले ने तूल पकड़ लिया है। गोपालगंज के एस एस कॉलेज के प्रिंसिपल प्रमोद कुमार को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के कार्यालय में बुलाया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। सूत्रों के अनुसार बोर्ड ऑफिस में सुबह एक से डेढ़ घंटे तक चेयरमैन आनंद किशोर रहे।
वहीं बोर्ड ऑफिस में कोतवाली पुलिस भी पहुंची है। बोर्ड ऑफिस के गेट को बंद कर दिया गया है। किसी को भी अंदर जाने से रोका जा रहा है। वही बोर्ड ऑफिस में मैट्रिक के टॉपर छात्रों का वेरिफिकेशन भी चल रहा है। इसको लेकर बोर्ड आफिस में काफी गहमागहमी का माहौल है। आपको बता दें कि इस वर्ष 17 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने 10वीं की परीक्षाएं दी थी। एग्जाम 21 फरवरी से 29 फरवरी के बीच राज्य के 1,426 केंद्रों पर हुए थे। पिछले वर्ष बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में 50  प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए थे। यानी सिर्फ स्टूडेंट्स ही पास हो पाए थे। पिछले साल छात्राओं की सफलता का प्रतिशत 21 और छात्रों का 28 प्रतिशत रहा था।
किरकिरी से बचने के लिए बिहार बोर्ड इंटर की तरह मैट्रिक नतीजों में भी पूरी सतर्कता बरत रहा है। मैट्रिक के नतीजों के ऐलान से पहले टॉप-25 तक आने वाले मेधावी छात्रों की जंची हुई उत्तर पुस्तिकाओं की दोबारा जांच की गई है। यहीं नहीं बोर्ड की एक समिति ने राज्य के विभिन्न जिलों से टॉपर विद्यार्थियों को बुलाकर उनका वेरिफिकेशन भी किया गया है।
नाइट गॉर्ड से पूछताछ
मामले में गोपालगंज में विद्यालय के नाइट गार्ड आसपूजन सिंह सहित दो कर्मियों को भी हिरासत में लिया गया है। पुलिस की विशेष टीम उनसे पूछताछ कर रही है। विद्यालय के प्राचार्य ने ही उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। हालांकि, एसपी राशिद जमा ने किसी भी कर्मी को हिरासत में लेने से इनकार किया है। एसपी का कहना है कि मैट्रिक की कॉपी गायब होने के मामले में विशेष टीम गठित कर जांच की जा रही है। विद्यालय के एक-एक शिक्षक व कर्मी को बुला कर पूछताछ की जा रही है।
जांच के बाद स्ट्रांग रूम में रखी गईं थीं उत्तर पुस्तिकाएं
कॉपियों की जांच के बाद उन्हें विद्यालय में बनाए गए स्ट्रांग रूम में रखा गया था। शनिवार को 213 बंडल बनाकर रखी गई 42 हजार से अधिक कॉपियों के गायब होने का मामला सामने आया। 17 जून को विद्यालय के प्राचार्य प्रमोद कुमार श्रीवास्तव ने नगर थानेदार को लिखित आवेदन देकर प्राथमिकी दर्ज कराई। प्राथमिकी में उन्होंने रात्रि प्रहरी आसपूजन सिंह तथा आदेशपाल छट्टू सिंह को नामजद किया गया है।
बोर्ड अध्यक्ष ने कहा, रिजल्ट पर नहीं पड़ेगा असर
बिहार बोर्ड के अध्यक्ष का कहना है कि मैट्रिक की कॉपियों को गायब होने का असर मैट्रिक के रिजल्ट पर नहीं पड़ेगा। कॉपियों का मूल्यांकन पहले ही हो चुका है और अंक पत्र बोर्ड पहुंच चुका है। उसके आधार पर ही रिजल्ट तैयार किया जा रहा है। गोपालगंज के जिलाधिकारी और एसपी को भी विस्तृत जांच करने का निर्देश दिया गया है। उनसे जांच प्रतिवेदन मांगा गया है। उत्तर पुस्तिकाओं को रिकवरी करने का भी निर्देश दिया गया है।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story