हाजीपुर में अपराधियों ने दिनदहाड़े व्यापारी को मारी गोली

Medhaj news 16 May 18 , 06:01:38 India
hajipur.jpg

बिहार में अपराधियों का मनोबल किस कदर बढ़ गया है‍, इसकी बानगी वैशाली जिले के हाजीपुर में देखने को मिली, करनी सेना के जिलाध्यक्ष और प्रसिद्ध मार्बल व्यवसायी सुशील सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना मंगलवार की शाम लगभग 6 बजे की है। औद्योगिक थाना क्षेत्र के एनएच 19 पर पासवान चौक स्थित मृतक के मार्बल की दुकान पर अपराधियों ने वारदात को अंजाम दिया। स्थानीय लोगों ने दुकान से सुशील सिंह को गंभीर स्थिति में सदर अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मृतक के भाई चंदन सिंह छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष हैं। सूचना पर नगर थाने पुलिस व औद्योगिक थाना समेत कई थानों की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कई लोग पूछताछ की।
बताया जाता है की सुशील सिंह अपनी दुकान बैठे हुए थे। उसी समय ग्राहक के वेश में दो व्यक्ति दुकान में घुसे और मार्बल से बने एक छोटे से मंदिर की कीमत पूछी। कीमत ज्यादा होने की बात कहते हुए कीमत कम करने को कहा। इसके बाद दुकान के स्टाफ ने कीमत कम करवाने के लिए दुकान मालिक से मिलने की बात कही। सुशील सिंह अपने चैंबर में बैठे थे। इसी दौरान दोनों युवक सुशील सिंह से बात करने लगे। इसी दौरान वह पानी की बोतल लेकर अपने चेंबर से बाहर निकल आए।
दोनों युवक भी साथ- साथ बाहर की ओर आये और कुछ बात करते हुए दुकान के बाहर आ गये और युवकों ने फायरिंग शुरू कर दी। वहां पहले से मौजूद अन्य दो साथियों ने भी फायरिंग की। अपराधियों ने उन्हें 7 गोलियों मारी। इससे वे जमीन पर गिर पड़े। इस दौरान गोली की आवाज सुन दुकान के स्टॉफ बाहर  बाहर आये और ईंट चलाने लगे, लेकिन अपराधी इन पर भी फायरिंग करते पटना की तरफ निकल भागे। घटना की सूचना पर नगर थानाध्यक्ष सुनील कुमार दलबल व औद्योगिक थानाध्यक्ष मधुरेन्द्र कुमार भी घटनास्थल फिर सदर अस्पताल पहुंचे।   थोड़ी देर बाद एसपी भी मौके पर पहुंचे। पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है। जिसकी जांच में पुलिस टीम जुटी है। सदर एसडीपीओ अजय कुमार भी मौके पर पहुंच फुटेज की जांच में जुट गए हैं।
वैशाली एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि, घटनास्थल पर ही मैं खड़ा हूं। सीसीटीवी फुटेज की छानबीन की गई है, जिसमें दो अपराधियों के चेहरे स्पष्ट दिखाई दे रहे हैं। हालांकि मृत युवक के परिजन अपराधियों की पहचान नहीं कर पा रहे हैं। इस स्थिति में फुटेज को सर्कुलेट किया जाएगा। परिजनों से भी इस संबंध में जानने की कोशिश की जा रही है कि किसी से कोई अदावत तो नहीं थी।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story