गया दुष्कर्म: RJD नेताओं ने पीड़िता को किया परेशान, FIR दर्ज

Medhaj news 16 Jun 18 , 06:01:38 India
gaya.jpg

बिहार के गया में डॉक्टर दंपति गैंगरेप मामले में पीड़िता के साथ प्रर्दशन करने वाले आरजेडी नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। मगध मेडिकल थाना के कांड संख्या 130/18 में अभियुक्त बनाए गए हैं। ये प्राथमिकी जुवेनाइल जस्टिस के तहत की गई है। साथ ही आरजेडी नेताओं पर जबरदस्ती की धारा 114, 147, 353, 228A, और IPC 74 JJ के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस मामले में राजनीति करने के लिए कुछ आरजेडी नेताओं ने मेडिकल टेस्ट के लिए पीड़िता को ले जा रही पुलिस की गाड़ी को रोककर प्रर्दशन किया था, जबरदस्ती पीड़िता से मुलाकात की थी, पीड़िता के साथ फोटो भी खिंचवाई थी और नारेबाजी की थी। पीड़िता के बारे में एसएसपी ने कहा है कि पीड़िता अभी भी सही स्थिति नहीं है। जल्दी बात करने को तैयार नहीं होती है, पहचान उजागर ना हो इसलिए वो एफआईआर नहीं करवाना चाहती थी। काफी काउसंलिंग के बाद एफआईआर के लिए तैयार हुई है।
साथ ही एसएसपी ने ये भी कहा है कि पीड़िता या किसी भी संबंधित व्यक्ति की पहचान ना जाहिर की जाए। उसके गांव, स्कूल या पड़ोसियों का नाम ना उजागर किया जाए जिससे उसकी पहचान का पता चले। इस मामले में आलोक मेहता के अलावा आरजेडी महिला सेल की अध्यक्ष आभा लता, बेलागंज विधायक सुरेंद्र प्रसाद यादव, आरजेडी जिलाध्यक्ष निजाम आलम, जिला महिला अध्यक्ष सरस्वती देवी पर नामजद प्राथमिकी दर्ज हुई है।
आपको बता दें कि बुधवार को गया से पत्नी और बेटी के साथ बाइक से अपने गांव गुरारू जा रहे एक व्यक्ति के साथ 12 से 15 की संख्या में हथियारबंद अपराधियों ने पहले लूटपाट की थी और व्यक्ति को बंधक बनाकर उसके सामने ही पत्नी और बेटी के साथ दुष्कर्म किया गया था। पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। कई थानों की पुलिस ने मिल कर छापेमारी कर 10 लोगों को हिरासत में लिया है। तीन आरोपियों को पकड़ा गया है, अब दोनों लोगों से पुलिस पूछताछ कर अन्य लोगों को गिरफ्तार करने की कोशिश कर रही है। पीड़िता के पिता ने मामले में दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग है। 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like