वाटरप्रूफ इंजन से अब पानी में भी दौड़ सकेगी ट्रेन

medhaj news 14 Jun 18 , 06:01:38 India
mumbai_train.jpg

बरसात के दौरान आपने कई बार यह देखा होगा कि ट्रैक पर पानी भरने की वजह से ट्रेनों को रोकना पड़ता है। मुंबई जैसे महानगरों में तो लाइफलाइन 'लोकल' के ठहर जाने से लाखों लोग जहां-तहां फंस जाते हैं। सेंट्रल रेलवे अब इस समस्या को दूर करने के लिए नए वाटरप्रूफ इंजन को उतारने जा रहा है, जो 12 इंच पानी में भी दौड़ सकेगा।आमतौर पर ट्रैक पर 4 इंच पानी जमा हो जाने पर ट्रेनों को रोक दिया जाता है और पानी ट्रैक से कम होने के बाद ही गाड़ी को हरी झंडी दिखाई जाती है।सेंट्रल रेलवे के चीफ पीआरओ सुनील उदासी ने बताया-पिछले कुछ सालों में अत्यधिक बारिश के दौरान महानगरी ट्रेनों के संचालन पर असर को देखते हुए हमने मोडिफाइड लोकोमोटिव इंजन विकसित किया है जो कि बारिश के पानी में भी रेलगाड़ी खींचने में सक्षम है।उदासी ने बताया कि मोडिफाइड वाटरप्रूफ लोकोमोटिव इंजन 12 इंच पानी में भी ट्रेन को खींच सकता है। इसे कुर्ला कारसेड में तैयार किया है। यह ट्रैक पर उतरने को तैयार है और आवश्यकता पड़ने पर कभी भी सेवा में लगाया जा सकता है।अधिक बारिश होने पर ट्रेनों के ठहराव की वजह से मुंबई में हर साल बड़ी समस्या खड़ी हो जाती है। पिछले साल का उदाहरण देते हुए उदासी ने बताया कि पिछले साल 25 इंजनों के ट्रैक्शन मोटर में पानी घुसने की वजह गाड़ियां जहां-तहां खड़ी हो गईं।ट्रैक पर 4 इंज से अधिक पानी भर जाने पर इंजन के नीचे लगे ट्रैक्शन मोटर में पानी घुस जाता है और इससे इंजन फेल हो जाता है। नए इंजन में ट्रैक्शन मोटर को पूरी तरह सील कर दिया गया है, जो पानी को अंदर जाने से रोकेगा। 

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends