जाम या झांम, या देश की बाधा

Medhaj News 10 Feb 19 , 06:01:39 India
oie.jpg

 



एक है जाम दूसरा है झांम , दोनो के उच्चारण एकसा है, एक से इंसान मदहोश होता है दूसरे से मद होश होता है। एक से इंसान खुश दूसरे से खुश्क होता है।एक से इंसान कुछ टाइम याददाश्त खो देता है दूसरे से धीरे धीरे  याददाश्त खो देता है। जाम से पेट्रोल बर्बाद होता है जो हम 80 प्रतिशत आयात करते है, जिससे इकोनॉमी पावर असर पड़ता है,  इकनॉमी से देश के विकास पर असर पड़ता है, जाम से गाड़िया देर तक रहती है उससे सड़क जल्दी खराब होती है, साथ साथ गाड़ी भी खराब होती है। कई लोगो के इंटरव्यू , एग्जाम छूट जाते है कई जरूरी काम,एम्बुलेंस फसने से, मरीज की  सांस फंस जाती है, पॉल्युशन बढ़ता है और पॉल्युशन  जानलेवा होता है क्योंकि पेट्रोल/डीजल में लेड होता है |





आदमी समय का पाबंद नही रह पाता।  वो भी उन चंद लोगो की बजह से , जो उल्टी दिशा में चलते, गाड़ी पर मोबाइल से बात करते है और सही निर्धारित गति से गाड़ी नही चलाते, खराब गाड़ी चलाते है, गलत पार्किंग करते है, और जो अतिक्रमण करते है , रेड लाइट या नियम का पालन नही करते।उससे थोड़ी सी जल्दवाजी और सब जाम में। अमूमन अब अधिकतर घर मे। एक बाइक तो है ही। मगर सड़क उतनी ही है वो भी हाँफती हुई।प्रशासन की इतनी सुविधा के बाद भी बनी हुई है जाम की स्थिति -----arYa


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like