मौसम विभाग कि चेतावनी, लक्षद्वीप समेत कई राज्यों में चक्रवाती तूफान और बारिश का खतरा

Medhaj news 18 May 18 , 06:01:38 India
642827_cyclone_9.jpg

देशभर में अभी आंधी-तूफान थमा भी नहीं है इसी बीच मौसम विभाग ने तटीय राज्यों में चक्रवाती तूफान सागर को लेकर चेतावनी जारी कर दी है। विभाग ने तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र और लक्षद्वीप में चक्रवाती तूफान 'सागर’ की चेतावनी दी है। मछुआरों को समुद्र से लौटने की सलाह दी गई है। राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई हिस्सों में गुरुवार को भी धूल भरी आंधी आई और बारिश हुई। इससे कई पेड़ उखड़ गए और सड़कों पर गिर गए। जिससे कई इलाकों में यातायात बाधित हुअा।
मौसम विभाग ने बताया कि अदन की खाड़ी में समुद्री चक्रवात 'सागर' उठा है। अगले 12 घंटों में यह भारत की ओर बढ़ेगा। इससे शुक्रवार, शनिवार और रविवार को पश्चिम, दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम हिस्सों में तेज आंधी-तूफान के साथ बारिश हो सकती है। विभाग ने बताया कि इस पश्चिमी चक्रवात के कारण अगले तीन दिनों के दौरान देश के कई हिस्सों में आंधी-तूफान और बारिश होगी। इससे गुजरात का तटीय हिस्सा ज्यादा प्रभावित नहीं होगा। चक्रवात को देखते हुए ऐहतियातन राज्य के सभी बंदरगाहों पर नंबर दो सिग्नल की चेतावनी जारी की गई है।
चक्रवात के कारण जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, यूपी, राजस्थान, दिल्ली, उसके आसपास, पश्चिमी यूपी में अगले तीन दिनों में आंधी-तूफान आने की संभावना है। बीते दिन यानी गुरुवार को राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई हिस्सों में धूल भरी आंधी आई और बारिश हुई। इसके चलते यातायात प्रभावित हुआ। आंधी के चलते कई पेड़ उखड़ गए।
अरब सागर के पास यमन देश में मौसम का सिस्टम बनने के बाद उठा चक्रवाती तूफान दिल्ली पहुंचा। जिससे दिल्ली में शाम को अचानक मौसम बदला और इस दौरान करीब 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं। मौसम विभाग के मुताबिक, शुक्रवार को भी 71 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी की संभावना है। वहीं तेलंगाना के हैदराबाद में आंधी-तूफान से 162 पेड़ उखड़ गए। इस दौरान ग्रेटर हैदराबाद में 5 सेमी बारिश दर्ज की गई।
सागर तूफान के आगे बढ़कर गुजरात में भी प्रवेश करने की संभावनाएं जताई जा रही है। तूफान का सामान्यत: असर दरिया किनारे इलाके में अधिक हो सकता है। नवसारी जिले में इस खतरे के मद्देनजर गुरूवार को प्रशासन ने अलर्ट रहने की सूचना जारी किया है।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story