Headline



जेएनयू छात्र का आपत्तिजनक वीडियो, दर्ज हो सकता है देशद्रोह का मुकदमा

Medhaj News 25 Jan 20 , 06:01:40 India
sahnaj.png

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर देशभर में कई जगहों पर भड़काऊ नारेबाजी और हिंसक विरोध प्रदर्शनों देखने को मिल रहे हैं। इसी बीच एक आपत्तिजनक वीडियो सामने आया है। वीडियो में इस्तेमाल की गई भाषा हमारे संघीय ढांचे पर प्रहार की तरह है। टुकड़े-टुकड़े गैंग पर मचे घमासान के बीच जेएनयू छात्र शरजिल इमाम के इस वीडियो ने पूर्वोत्तर और असम को भारत के नक्शे से मिटाने के घृणित मंसूबे को बेनकाब किया है। उसका यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। असम सरकार ने इस वीडियो का संज्ञान लेते हुए शरजिल पर मामला दर्ज करने का फैसला लिया है। जेएनयू छात्र शरजिल इमाम वायरल वीडियो में कहता है - हमारे पास संगठित लोग हों तो हम असम से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं।





स्थायी तौर पर नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से अलग कर ही सकते हैं। रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डालो कि उनको हटाने में एक महीना लगे। जाना हो तो जाएं वायुसेना से। असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है। भड़काऊ वीडियो में शरजिल कहता है - भारत और असम अलग हो जाएं, तभी वे हमारी बात सुनेंगे। क्या आपको पता है असम में मुसलमानों का क्या हाल है? वहां एनआरसी लागू हो गया है। मुस्लिमों को हिरासत केंद्र में डाला जा रहा है। छह-आठ महीनों में पता चलेगा कि वहां सारे बंगालियों को मार दिया गया। यदि हमें असम की मदद करनी है तो असम का रास्ता बंद करना होगा। असम के मंत्री हिमंत बिस्व शर्मा ने कहा - दिल्ली के शाहीन बाग के विरोध प्रदर्शन के मुख्य आयोजक सरजील का कहना है कि असम को शेष भारत से अलग कर देंगे। राज्य सरकार ने इस देशद्रोही बयान पर संज्ञान लिया है और उनके खिलाफ मामला दर्ज करने का फैसला लिया है।


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends