पुणे:मां ने अपनी कोख बेटी को दी,बेटी ने फिर बेटी को जन्म दिया, डॉक्टरों का करिश्मा

Medhaj news 19 Oct 18 , 06:01:38 India
pregnent147_ll.jpg

महाराष्ट्र के पुणे के गैलक्सी केयर हॉस्पिटल में एक महिला ने अपनी मां के गर्भाशय से बच्ची को जन्म दिया है। दरअसल, 17 माह पहले महिला का गर्भाशय डैमेज हो गया था। इसके बाद महिला में उनकी मां का गर्भाशय ट्रांसप्लांट किया गया था। गुजरात निवासी मीनाक्षी ने तीन गर्भपात के बाद मां बनने का सपना ही छोड़ दिया था, लेकिन मेडिकल साइंस ने उनकी खोई हुई उम्मीद को पूरा किया। मीनाक्षी सिर्फ हिंदुस्तान ही नहीं, बल्कि एशिया की ऐसी पहली महिला हैं, जिन्होंने ट्रांसप्लांट हुए गर्भाशय से बच्चे को जन्म दिया है।

यह अपनी तरह का देश का दूसरा ऐसा ऑपरेशन था। ऐसा पहला ऑपरेशन भी एक दिन पहले ही किया गया था। बाद में गर्भवती महिला का डॉक्टर्स को इमरजेंसी में सिजेरियन करना पड़ा और उसने बच्ची को जन्म दिया। हालांकि, बच्ची समय से पहले पैदा हुई।32 सप्ताह की प्रेग्नेंसी से बाद जन्मी बच्ची फिलहाल स्वस्थ है।

ये भी पढ़े - ग्रेटर नोएडा: फ्लैट में युवक और विवाहिता का शव पंखे से लटका मिले

महिला को उसकी 45 वर्षीय मां ने अपना गर्भाशय डोनेट किया था। ट्रांसप्लांट का मामला होने के चलते प्रेग्नेंसी का पता चलने के बाद से ही महिला पुणे के अस्पताल की देख-रेख में थी। दरअसल, इस स्थिति में अंग का ट्रांसप्लांट होता है लेकिन सभी नर्व्स पहले की तरह नहीं जुड़ पातीं, इसलिए गर्भवती को लेबर पेन का पता नहीं चलता। इन्हीं कारणों से यह प्रक्रिया चुनौतीपूर्ण थी। अब मां और बच्ची दोनों स्वस्थ हैं और डॉक्टर भी इसे बड़ी कामयाबी मान रहे हैं।

मीनाक्षी को काफी संघर्ष के बाद संतान सुख मिला है। नौ महीने के गर्भ के बाद बच्चे को गंवाने के साथ ही गर्भाशय की पांच सर्जरी झेली। एक सर्जरी के दौरान मीनाक्षी का गर्भाशय हमेशा के लिए अक्षम हो गया। ऐसे में गर्भाशय प्रत्यारोपण का रास्ता अपनाया गया। इस दौरान मीनाक्षी को अपने परिवार और रिश्तेदारों से दूर रहना पड़ा।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like