Headline

भय्यू जी महाराज आत्‍महत्‍या मामले से जुड़ी कुछ बातें

Medhaj news 18 Jun 18 , 06:01:38 India
bhaiyyu_ji.jpg

भय्यू महाराज आत्महत्या केस की गुत्‍थी को सुलझाने के लिए पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है। पुलिस आत्‍महत्‍या को संदिग्‍ध मान कर चल रही है। लग्जरी लाइफ जीने वाले संत भय्यूजी महाराज ने मंगलवार को जब अचानक खुद को गोली मारी तो एक पल के लिए किसी को यकीन नहीं हुआ कि ऐसा भी हो सकता है। पुलिस ने जब इस मामले की छानबीन शुरू की तो पता चला कि उनकी बेटी कुहू और दूसरी बीवी डॉक्टर आयुषी के बीच झगड़ा चल रहा है जिससे भय्यूजी महाराज परेशान थे लेकिन इसके बाद भी यह सवाल बना रहा कि आखिर उनको खुदकुशी क्यों करनी पड़ गई? खुदकुशी के बाद से अब तक यह रहस्य ही है कि कौन सी वो बातें थीं जिन्होंने भय्यूजी जैसे संत को ऐसा कदम उठाने पर मजबूर कर दिया। पुलिस ने खुदकुशी से एक-दिन पहले की घटनाओं की जांच शुरू की तो कई संदिग्ध बातें सामने आईं जिसके राज का पर्दाफाश हो जाए तो संत की खुदकुशी का यह मामला सुलझ सकता है।



कुछ ऐसे तथ्य जिनपे पुलिस कर रही छानबीन




  • भय्यूजी महाराज हमेशा बायें हाथ से काम किया करते थे। जब उन्होंने खुद को गोली मारने के लिए दायें हाथ का इस्तेमाल किया तो इस खुदकुशी पर उनके शिष्यों ने शक जताया। लेकिन पुलिस इसे प्रारंभिक जांच के बाद खुदकुशी ही मानकर चल रही है। अब सबसे बड़ा सवाल पुलिस के सामने ये है कि जब भय्यूजी बायें हाथ से सारा काम करते थे तो ट्रिगर दबाने के लिए दायें हाथ का इस्तेमाल क्यों किया? पुलिस इस गुत्थी को सुलझाने के लिए गन शॉट के अवशेष की जांच करा रही है।

  • खुदकुशी से एक दिन पहले भय्यूजी सोमवार को रेस्टोरेंट में एक महिला से मिले थे। उस महिला की पहचान पलासिया निवासी के तौर पर हुई जो वहां बुटिक चलाती हैं। उनसे पुलिस ने पूछताछ की तो महिला ने बताया कि वो बेटे के एडमिशन के बारे में बात करने के लिए भय्यूजी से मिली थी। इस महिला की भूमिका अभी तक साफ नहीं हो पाई है क्योंकि वो लगातार भय्यूजी से कॉल पर बात कर रही थी। मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि सोमवार को भी कम से कम 6 बार महिला की भय्यूजी से बात हुई थी।

  • रविवार रात को और सोमवार दिनभर पुणे के आश्रम का सेवादार अमोल अविनाश चव्हान लगातार भय्यूजी महाराज को कॉल करता रहा था। यह वही शख्स है जिसके बारे में सास रानी शर्मा ने पुलिस के सामने खुलासा किया था। सास ने बताया कि भय्यूजी जब खाने पर उनके यहां रविवार को आए थे तो लगातार अमोल उनको कॉल करता रहा। इसके बाद सोमवार को भी अमोल का ही बार-बार कॉल आता रहा जिसके बाद पुणे जा रहे भय्यूजी सैंधवा से वापस इंदौर लौट गए।

  • भय्यूजी महाराज के भरोसेमंद सेवादार विनायक दुधाले से पुलिस ने पूछताछ की तो उसने यही बताया है कि भय्यूजी महाराज आर्थिक तंगी के शिकार थे। विनायक के मुताबिक, बाकी सब ठीक था। भय्यूजी विनायक से हमेशा अकेले में बात करते थे। बताया जाता है कि विनायक ने कई राज छुपा रखे हैं जिसको उसने पुलिस को नहीं बताया है।


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like