Headline



राज ठाकरे की पार्टी MNS के एकमात्र विधायक ने उद्धव सरकार के समर्थन में वोट नहीं किया

Medhaj News 30 Nov 19 , 06:01:39 India
THACKERAY.png

महाराष्‍ट्र विधानसभा के विशेष सत्र में उद्धव ठाकरे की सरकार ने 169 विधायकों के साथ विश्‍वासमत हासिल कर लिया है | उद्धव सरकार ने विपक्षी BJP के बहिष्‍कार के बीच बहुमत प्रस्‍ताव जीत लिया है | इस बीच, विधानसभा में ट्रस्‍ट वोट को लेकर लाए गए प्रस्‍ताव पर वोटिंग के दौरान उद्धव ठाकरे के चचेरे भाई राज ठाकरे की पार्टी ने इस प्रक्रिया में हिस्‍सा ही नहीं लिया | राज ठाकरे की पार्टी महाराष्‍ट्र नवनिर्माण सेना (MNS-मनसे) के एकमात्र विधायक ने किसी भी पक्ष में वोट नहीं डाला | मनसे न्‍यूट्रल (तटस्‍थ) रही | इसके अलावा असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM और भाकपा भी तटस्‍थ बनी रही |





इस तरह सदन की कार्यवाही में हिस्‍सा लेने वाली तीन पार्टियों के चार विधायकों ने वोट डालने के बाजय तटस्‍थ रहना बेहतर समझा | राज ठाकरे की पार्टी मनसे अकेली पार्टी नहीं है, जिसने उद्धव सरकार की ओर से लाए गए बहुमत परीक्षण के प्रस्‍ताव पर हुई वोटिंग से अलग रही | MNS के अलावा ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम और भाकपा (भारतीय कम्‍यूनिस्‍ट पार्टी) भी तटस्‍थ रही | इसका मतलब यह हुआ कि इन दलों के विधायकों ने ट्रस्‍ट मोशन के न तो पक्ष में और न ही विपक्ष में वोट डाला | न्‍यूज एजेंसी 'ANI' के अनुसार, मनसे के एक, AIMIM के दो और भाकपा के एक विधायकों ने वोटिंग के बजाय न्‍यूट्रल रहना ही उचित समझा | इस तरह कुल चार विधायक तटस्‍थ रहे | इन्होंने न तो पक्ष और न ही विपक्ष में वोट डाला |


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends