कलाई के दर्द से तुरंत राहत दिलाते हैं ये नुस्‍खे

medhaj news 13 Feb 18 , 06:01:38 India
kalai_me_.jpg

अगर आपको इस बात का आभास हो कि आपकी कलाइयों में दर्द की वजह अधिक गंभीर है, तो आपको डॉक्‍टर के पास जाना चाहिए। लेकिन, इससे पहले आप पांच आसान घरेलू उपाय आजमा सकते हैं, जिनसे आपको कलाइ के दर्द में आराम मिल सकता है। हां, अगर आपको चोट या किसी अन्‍य कारण से कलाइ में दर्द हो रहा है, तो बेहतर रहेगा कि आप चिकित्‍सक के पास जाएं।

अपनी कलाइयों का अधिक इस्‍तेमाल न करें। हालांकि, सुनने में यह बहुत आसान लगता है, लेकिन ऐसा है नहीं। क्‍या आप जानते हैं कि अधिकतर लोग कलाइयों पर पट्टी बांधकर अपने रोजमर्रा के कामों में लगे रहते हैं, इससे उनकी कलाइयों पर और अधिक दबाव पड़ता है। बेशक, आपका सबसे पहला काम अपनी कलाइयों को ठीक करने का प्रयास करना चाहिए। आपकी कलाई को आराम की जरूरत है। ठीक वैसे ही जैसे आपके शरीर के बाकी अंगों को किसी चोट या जख्‍म के बाद आराम की जरूरत होती है। अपनी कलाइयों को आराम दें और देखें यह कैसे काम करता है |

पुदीने का तेल कलाई के तेज दर्द से राहत पाने का अचूक उपाय है। पुदीने के तेल में कोई अन्‍य तेल मिला लें, इससे पुदीने के तेल से होने वाली जलन/ठंडक को कम किया जा सकेगा। अगर आप इसमें कोई अन्‍य तेल जैसे वेजिटेबल ऑयल अथवा ऑलिव ऑयल नहीं मिलाएंगे, तो इसका असर काफी तेज होगा और यह जलने लगेगा। पुदीने के तेल में अन्‍य तेल 1:4 से मिलाना चाहिए। यानी एक चम्‍मच पुदीने के तेल में चार चम्‍मच कोई अन्‍य तेल। इस तेल से अपनी कलाइयों की मालिश करें। थोड़ी-थोड़ी देर में इस तेल से मालिश करते रहने से फायदा होता है।

अगर आपको ऐसा लगता है कि आपकी कलाइयों में लगातार चोट लगती रहती है, तो आपको अच्‍छी क्‍वालिटी की बैंडेज बांधने की जरूरत है। इसके साथ ही आप चाहें तो कड़ा बैंड भी बांध सकते हैं। यह बैंड आपको किसी भी दवा की दुकान से मिल सकता है। अगर आपकी कलाई को कोई अंदरूनी चोट नहीं है, तो आपका डॉक्‍टर भी आपके हाथ पर बैंड बांधकर आपको घर जाने को कह देगा। साथ ही आपको कई सलाह देगा कि आपको अपनी कलाई कैसे हिलानी है या फिर कैसे नहीं हिलानी है। आपको वजन उठाना है अथवा नहीं। उठाना है, तो कैसे उठाना है। क्‍या आप महज इतनी सी बात के लिए डॉक्‍टर की फीस भरना चाहते हैं। इससे अच्‍छा है कि अपनी कलाई को बांध लें।

आप सोचेंगे कि कलाइ के दर्द का पानी से क्‍या वास्‍ता। लेकिन, यह वाकई काम करती है। पानी में मौजूद तत्त्‍व आपके शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करते हैं। पानी शरीर के लिए ल्‍यूब्रीकेटर का काम करता है। भले ही आपको अर्थराइटिस के कारण दर्द हो रहा हो अथवा काम के अधिक बोझ के कारण आपको कोई परेशानी हो रहे हो, पानी आपके लिए काफी मददगार हो सकता है।

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story