केजरीवाल सहित आप नेताओं को LG हाउस से हटाने की क्यों हो रही तैयारी

Medhaj news 16 Jun 18 , 06:01:38 India
kejriwal.jpg

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रियों का एलजी निवास पर धरना पांचवे दिन भी जारी है। आम आदमी पार्टी के नेताओं का कहना है कि धरना दे रहे नेताओं को जबरन ले जाने के लिए एलजी हाउस में ऐंबुलेंस बुलाई गई हैं। आम आदमी पार्टी ने एक विडियो जारी किया है, जिसमें मनीष सिसोदिया कह रहे हैं, 'मैं और सत्येंद्र जैन दिल्ली के बेहतरी के लिए तपस्या कर रहे हैं, अगर एलजी ने जबरन अनशन तुड़वाने की कोशिश की तो हम पानी भी त्याग देंगे।'
एलजी हाउस में ऐंबुलेंस आने के बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने उन्हें जबरन एलजी हाउस से निकालने की आशंका जताई है। केजरीवाल ले कहा कि अनशन पर बैठे उनके मंत्री पूरी तरह फिट हैं, फिर उन्हें जबरन हटाने की तैयारी क्यों की जा रही है? अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'अगर रविवार तक उनकी मांगों पर कोई जवाब नहीं मिलता है तो दरवाजे-दरवाजे जाएं और 10 लाख परिवारों के साइन लेकर आएं। हम उसे प्रधानमंत्री को फॉरवर्ड करेंगे। वह मेरी मांगों पर कोई जवाब नहीं दे रहे हैं इसलिए अब दिल्ली की जनता उनसे पूछेगी।'
सीएम केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को दोबारा चिट्ठी लिख आईएएस की हड़ताल खत्म करने के लिए उनके हस्तक्षेप की मांग की है और साथ ही कहा है कि उनका धरना अपने फायदे के लिए नहीं बल्कि दिल्ली की जनता की भलाई के लिए है।

आप क्यों कर रही है आंदोलन

आम आदमी पार्टी का आरोप है कि उपराज्यपाल अनिल बैजल ने राशन योजना को लंबित करने के लिये इसे केन्द्र सरकार की पूर्व मंजूरी के लिये भेज दिया है. इस योजना को मंजूरी देने, दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने और दिल्ली सरकार के अधिकारियों की हड़ताल खत्म कराने की मांग को लेकर आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तथा मंत्री राजनिवास में छह दिन से अनशन कर रहे हैं| 'आप' से राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने इसे विरोध का तरीका बताते हुये कहा कि प्रधानमंत्री जी दिल्ली के निवासी है, उनके घर में राशन की कमी नहीं होनी चाहिए. इसलिये आज हम उनके घर चावल पहुंचा रहे हैं, आगे भी जरूरत का राशन उनके घर पहुंचा देंगे| उन्होंने बताया कि आप विधायक और कार्यकर्ता लिखकर प्रधानमंत्री मोदी से निवेदन भी कर रहे हैं कि दिल्ली के लोगों का राशन ना रोका जाये| विडियो मेसेज के जरिए उन्होंने बीजेपी पर भी हमला बोला है। उन्होंने कहा कि नौकरशाहों की हड़ताल का मकसद आप सरकार के काम में 'बाधा' पहुंचाना था। उन्होंने कहा, 'गुरुवार को मैंने एलजी से कहा था और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उन्हें चिट्ठी लिखकर भी दी, वॉट्सऐप मेसेज भी भेजा लेकिन कोई जवाब नहीं आया। पीएम को भी चिट्ठी लिखी लेकिन कोई जवाब नहीं आया तो मैंने आज दोबारा लिखा है।'

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story