नोटबन्दी के बाद भी शिरडी के साईं बाबा पर श्रद्धालु मेहरबान! चढ़ाया रिकॉर्ड तोड़ चढ़ावा

मेधज न्यूज़  |  Lifestyle  |  30 Dec 16,18:06:52  |  
sai_baba.jpg

नोटबंदी के फैसले के बाद जहां लोगों को दर-दर के बैंकों की ठोकर खानी पड़ी हो, लेकिन नोटबंदी के फैसले ने श्रद्धालुओं की श्रद्धा को नहीं हिला पाई। पैसे की तंगी क्यों न हो लेकिन भक्तों ने भगवान को मलामाल करने में कोई कसर नही छोड़ी। नोटबंदी के बाद भी श्री साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट को कुल 31.73 करोड़ रुपये का दान मिला है। मंदिर के एक अधिकारी सचिन तांबे के अनुसार पिछले 50 दिनों के दौरान संस्थान को कुल 31.73 करोड़ का दान मिला।

इसे भी पढ़े - हाय रे ठंडः काशी में श्रद्धालुओं ने भगवान को पहनाया स्वेटर!

चलिए आपको बता दें, कि नोटबंदी के बाद श्रद्धालुओं के बाबा को चढ़ावा कैसे चढ़ाया......

-मंदिर को पुराने 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों के रूप में कुल 4.53 करोड़ रुपये का दान मिला है।

-जबकि 3.80 करोड़ रुपये का दान नए 2,000 और 500 रुपये के नए नोटों के रूप में आया है।

-दान-पात्रों के जरिये 18.96 करोड़ रुपये मिला।

-विभिन्न दान केन्द्रों में क्रेडिट कार्ड से 4.25 करोड़ और डेबिट कार्ड के जरिये 2.62 करोड़ रुपये मिले हैं।

-संस्थान को डिमांड ड्राफ्ट के जरिये 3.96 करोड़ रुपये और 1.46 करोड़ रुपये ऑनलाइन दान के जरिये मिले हैं।

-संस्थान को मनी आर्डर के जरिये भी करीब 35 लाख रुपये का दान मिला है।

इसे भी पढ़े - मध्य प्रदेश में इच्छाधारी नागिन का पुनर्वतार! देखने के लिए दूर-दराज से पहुंचे लोग

-नकदी के अलावा करीब 73 लाख रुपये मूल्य के 2.90 किग्रा सोने के आभूषण और करीब 18 लाख मूल्य के 56 किग्रा चांदी के आभूषण भी दान में मिले हैं।

सचिन ने बताया कि 8 नवंबर को नोटबंदी के बाद संस्थान ने महत्वपूर्ण श्रद्धालुओं को ‘दर्शन’ एवं ‘आरती’ की विशेष सुविधा देकर 3.18 करोड़ रुपये अर्जित किए हैं।

पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान प्रसिद्ध साईंबाबा मंदिर को दानपात्रों के जरिये कुल 162 करोड़ रुपये का दान मिला था। जो औसतन 44.38 लाख रुपये प्रतिदिन है। जबकि विमुद्रीकरण के बाद संस्थान को प्रतिदिन करीब 37.92 लाख रुपये का दान मिला है।

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...