अरविंद केजरीवाल ने खत्म किया धरना, जानिए धरना खत्म करने की वजह

Medhaj news 20 Jun 18,18:23:29 Lifestyle
kejriwal_759.jpg

दिल्ली में आईएएस अधिकारियों द्वारा सरकारी बैठकों में शामिल होने का फैसला करने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को एलजी हाउस पर नौ दिनों से जारी धरने को समाप्त करने का फैसला किया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘मंत्रियों द्वारा आज (मंगलवार) बुलाई गई बैठक में मुख्य सचिव सहित सभी शीर्ष अधिकारी मौजूद रहे।’’ केजरीवाल अपने मंत्रिमंडलीय साथी गोपाल राय के साथ राज निवास में नौ दिन रुकने के बाद मंगलवार को राजनिवास छोड़ दिया। कथित रूप से हड़ताल पर चल रहे आईएएस अधिकारियों को उनकी सरकार की बैठक में शामिल होने की मांग को लेकर केजरीवाल, सिसोदिया, मंत्रियों सत्येंद्र जैन और गोपाल राय के साथ 11 जून से राजनिवास में धरना दे रहे थे।
धरने के बाद मुख्यमंत्री से पहली बातचीत में एलजी अनिल बैजल ने केजरीवाल को पत्र लिखकर उनसे अधिकारियों से तत्काल मिलकर बातचीत के जरिये दोनों पक्षों की परेशानियां दूर करने को कहा। बैजल ने केजरीवाल को पत्र उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के उस पत्र के जवाब में लिखा, जिसमें सिसोदिया ने गतिरोध खत्म करने के लिए सरकार और नौकरशाहों के बीच बैठक की वकालत की थी। इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री के धरने को लेकर आईएएस असोसिएशन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इस दौरान अधिकारियों ने कहा था कि वह किसी हड़ताल पर नहीं हैं और मौजूदा स्थिति को लेकर डरे हुए हैं। इसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए अधिकारियों से कहा था कि वह उनके परिवार के सदस्य की तरह हैं और साथ ही सुरक्षा का आश्वासन भी दिया था।
बता दें कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आईएएस अधिकारियों की कथित हड़ताल के विरोध में अपना धरना दे रहे थे। केजरीवाल का कहना था कि आईएएस अधिकारी पीएम मोदी के आदेश पर धरना दे रहे हैं। उन्होंने पीएम और एलजी को पत्र लिखकर आईएएस अधिकारियों की हड़ताल खत्म कराने की मांग की थी। इसके बाद चार राज्यों के मुख्यमंत्री केजरीवाल के समर्थन में आए थे। नीति आयोग की बैठक में भी चारों मुख्यमंत्रियों ने यह मुद्दा उठाया था।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends