नए अध्ययन में खुलासा, पूर्णिमा की रात होते हैं अधिक बाइक हादसें

medhaj news 14 Dec 17,18:02:33 Lifestyle
purnima_night.jpg

जो लोग रोजाना बाइक से सफर करते है, ये खबर उन लोगों के लिए है। एक अध्ययन के अनुसार जिस रात चांद पूरा होता है इससे एक रात पहले बाइक से हादसा होने की आशंका ज्यादा होती है। 


एक नई स्टडी से ये बात सामने आई है। स्टडी में लगे शोधकर्ताओं का मानना है कि रात को बाइक सवार का ध्यान भटक जाता है। जिससे की हादसे हो जाते है। 
इस अध्ययन के मुताबिक दुनियाभर में बड़ी संख्या में बाइक हादसों में लोगों की जान चली जाती है। सिर्फ अमेरिका में ही बाइक हादसों की वजह से 5 हजार लोगों की जान चली जाती है। इन हादसों की वजह अचानक से ध्यान भटक जाना है। वर्ष में लगभग 12 बार चांद पूरा दिखता है जो कि बड़ा और चमकीला होता है, जिससे की यह ड्राइवर का ध्यान भटका सकता है।


कनाडा की यूनिवर्सिटी ऑफ टॉरंटो और अमेरिका की प्रिंसटन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने पूर्ण चंद्र वाली रात में होने वाले सड़क हादसों की गणना की है। और इन हादसों की तुलना पूर्ण चंद्र से ठीक एक हफ्ते पहले और बाद वाले हफ्ते में होने वाले सड़क हादसों से की है।  


अध्ययन में पाया गया कि 1 हजार 482 रातों में 13 हजार 29 लोगों बाइक हादसों की चपेट में आए। जिनमें से 494 रातें पूर्ण चंद्रमा वाली रातें थी, जबकि 988 रातें सामान्य रातें थी। बाइक चलाने वाले मध्यम उम्र का पुरुष (औसत उम्र 32 साल) होता है जो हेलमेट नहीं पहनता। कुल मिलाकर साल 1975 से 2014 के बीच पूरे चांद की 494 रातों में 4 हजार 494 घातक दुर्घटनाएं हुईं।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story