16 से 20 साल में रहते है लोग सबसे ज्यादा खुश, 45 से 65 तक सबसे ज्यादा दुखी... एक सर्वे

medhaj news  |  Lifestyle  |  29 Aug 17,12:35:54  |  
sad_happy.jpg

अमेरिका के नेशनल ब्यूरो ऑफ इकोनॉमिक रिसर्च एक रिपोर्ट जारी की है कि किसी उम्र में लोग ज्यादा खुश रहते है और जीवन का आनंद लेते है, और कौन सी उम्र में आकर लोगों की खुशी का स्तर घटता जाता है।

अध्ययन की रिपोर्ट के मुताबिक 16 से 20 साल व 65 से 85 साल की उम्र वाले लोग खुश रहते है, व अपने जीवन को खुलकर जीते है। वहीं सर्वे में कहा  गया है कि 45 से 55 साल की उम्र वाले लोग कम खुश रहते है। खुशी का स्तर 21 से 55 साल तक घटता जाता है फिर बढ़ता है। यह सर्वे 97 देशों के 13 लाख लोगों पर किए गए 7 सर्वो के आधार पर तैयार की गई है। जिसमें भारत भी शामिल है।

इसे भी पढ़ें-किसी लड़की से आपको भी हो गया है प्यार तो यूं करें उन्हें इंप्रेस

इस रिपोर्ट के मुताबिक 16वें और 80वें साल में खुशी शिखर पर होती है। 50वें साल में हमारी खुशी  सबसे निचले स्तर पर होती है।

45 से 55 साल के लोगों के सबसे ज्यादा तनाव में रहने और खुशी कम होने का कारण है उनकी जिम्मे‍दारियां, ये वह उम्र है, जिसमें किसी भी व्यक्त‍ि के ऊपर सबसे ज्यादा जिम्मेदारियां होती हैं। इस उम्र में ज्यादातर लोग शादी कर चुके होते है। शादी  के बाद का तनाव, बच्चों की जिम्मेदारी, जॉब की चिंता, परिवार को और खुद को वक्त ना दे पाना आदि।

जबकि 16 से 20 साल के युवा इन सभी जिम्मेदारियों से चिंतामुक्त होते हैं। इसलिए वो खुलकर जीते हैं। इसके साथ ही उनके जीवन में स्पोर्ट्स का होना भी महत्वपूर्ण कारण है। वहीं, 65 के बाद भी लोग अपनी सभी जिम्मेदारियों से मुक्त हो जाते हैं। इस कारण वे अब खुश रहने लगते है। इस रिपोर्ट के आधार पर देखा जाए तो जीवन की खुशी का ग्राफ U आकार का बनता है। जो कि एक स्माइली की तरह है। 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...