Movie Review: रंगीन मिजाज के मौत के पोस्टमैन की सस्पेंस भरी कहानी है ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’

Medhaj News 25 Aug 17,17:17:21 Ajab Gajab
bandook_baaz.jpg

नवाजुद्दीन सिद्दकी की आने वाली फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ आज रिलीज हो गई है। फिल्म के बेहतरीन ट्रेलर को देखने के बाद अगर आप इस फिल्म को इस वीकेंड देखने की योजना बना रहे हैं, तो एक बार जरूर पढ़े ले फिल्म का शॉर्ट रिव्यू।

कहानी-

फिल्म की कहानी बाबू बिहार (नवाजुद्दीन) की है, जो पैसे के लिए किसी को भी मौत के घाट उतार देता है। यही उसका पेशा है। 10 साल की उम्र से वह लोगों की हत्याएं कर रहा है। वह लेडी डॉन सुमित्रा जीजी (दिव्या दत्ता) के लिए काम कर रहा है। बाबू ‘जीजी’ के लिए काम करता है लेकिन वह मनमौजी है और किसी की सुनता नहीं है। वह काफी रंगीन मिजाज का होता है। इस बीच कहानी में एंट्री होती है, फुलवा (बिदिता) की, बिहारी और फुलवा की मुलाकात के बाद दोनों को एक दूसरे से प्यार हो जाता है। काफी ट्वीट्स एंड टर्न के बाद काहानी का अंत काफी सस्पेंस भरा है।

देखे या नहीं- गैंग्स ऑफ वासेपुर टाइप फिल्म का पसंद करते हैं, तो यकिनन आपको ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ काफी पसंद आने वाली है। वहीं, जो नहीं पसंद करते वे इस फिल्म का टीवी पर आने का इंतजार कर सकते हैं। 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...

    Similar Post You May Like