Headline



Movie Review: फिल्म जवानी जानेमन मॉडर्न दौर की कहानी

Medhaj News 1 Feb 20,00:23:40 Movies Review
movie_javani.JPG

सैफ अली खान (Saif Ali Khan), अलाया फर्नीचरवाला (Alaia Furniturewalla), तबु, कुबरा सैत और चंकी पांडेय की फिल्म 'जवानी जानेमन' रिलीज हो गई है | पूजा बेदी की बेटी अलाया की यह पहली फिल्म है और वह फिल्म में सैफ अली खान की बेटी का किरदार निभा रही हैं | सैफ अली खान फिल्म में आशिकमिजाज जैज के रोल में हैं जो 40 का होने वाला है, और जिंदगी को अकेले और मस्ती में जीना चाहता है | जवानी जानेमन (Jawaani Jaaneman) मॉडर्न दौर की कहानी है और वन टाइम वॉच है | जवानी जानेमन (Jawaani Jaaneman) की कहानी जसविंदर सिंह उर्फ जैज यानी सैफ अली खान (Saif Ali Khan) की है | जैज लंदन में रहता है और रियल एस्टेट ब्रोकर है जैज बिंदास लाइफ जीता है और अकेले रहते हुए भी बहुत खुश है | जैज अपने आशिकमिजाज है और अकसर पार्टी मूड में रहता है | एक दिन उसकी मुलाकात होती है टिया यानी अलाया से | जिसकी उम्र 21 साल है, और जैज उसे इम्प्रेस करने की कोशिश करता है | लेकिन जैज के उस समय होश फाख्ता हो जाते हैं जब उसे पता चलता है कि यह लड़की उनकी बेटी है और जल्द ही वह नाना भी बनने वाले हैं | रिश्तों के जंजाल से दूरे भागने वाले जैज के लिए यह जबरदस्त शॉक होता है | इस तरह बाप और बेटी के रिश्ते और रिश्तों से दूर भागने वाले शख्स की बहुत ही मॉडर्न टच वाली फिल्म है जवानी जानेमन |





'जवानी जानेमन (Jawaani Jaaneman)' में सैफ अली खान की एक्टिंग बहुत ही कमाल की है | सैफ ने जैज के कैरेक्टर को परदे पर बहुत ही शानदार ढंग से प्ले किया है और इस किरदार में वह बहुत जमते भी हैं | सैफ ने जैज के कैरेक्टर की बारीकियों को पकड़ा है | वैसे भी सैफ अली खान इस तरह के किरदार में जमते हैं | पूजा बेदी की बेटी अलाया फर्नीचरवाला की यह पहली फिल्म है, लेकिन उन्होंने दिखा दिया है कि वह बॉलीवुड में लंबी पारी खेलने आई हैं | उन्होंने टिया के किरदार को सधे ढंग से निभाया है | तब्बू का छोटा लेकिन अच्छा किरदार है | नितिन कक्कड़ 'जवानी जानेमन (Jawaani Jaaneman)' से पहले फिल्मिस्तान, मित्रों और नोटबुक फिल्में बना चुके हैं | इस बार उन्होंने एकदम अलग तरीके का टॉपिक चुना और उन्होंने फिल्म को काफी टाइट भी रखा है |  नितिन ने कहीं भी मेलोड्रामा को फिल्म पर हावी नहीं होने दिया है | हालांकि पहला हाफ जहां एंटरटेनिंग है, सेकंड हाफ थोड़ा खींचा हुआ जरूर लगता है |  जवानी दीवानी बाप बेटी के रिश्ते को नई रोशनी में पेश करती है और एक हटकर कहानी को बॉलीवुड में पेश भी करती है | कहानी में नयापन है | सैफ और अलाया की ट्यूनिंग भी फिल्म में जमी है, और फिल्म का म्यूजिक औसत है |   


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends