केंद्र सरकार अक्षय ऊर्जा का बढ़ाएगी उत्पादन, 21 हजार मेगावाट पवन ऊर्जा परियोजनाओं की करेगी नीलामी

Medhaj News 25 Nov 17 , 06:01:37 Power and Infrastructure
Wind_energy_2.jpg

केंद्र सरकार ने अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए मार्च 2018 तक 21,000 मेगावाट तक सौर एवं पवन ऊर्जा क्षमता की नीलामी करेगी। जिसके लिए नीलामी की रूपरेखा के लिए आयोजित कार्यक्रम में सरकार ने खाका पेश किया। इस नीलामी से सरकार को उम्मीद है कि देश 2022 तक 1.75 लाख मेगवाट के अक्षय ऊर्जा लक्ष्य के मुकाबले 2 लाख मेगावाट का लक्ष्य हासिल कर लेगा।

गौरतलब है कि सरकार पवन ऊर्जा क्षेत्र में दूसरी बार नीलामी कर रही है। केंद्र सरकार दूसरे दौर में 2 हजार मेगावाट क्षमता की पवन ऊर्जा परियोजनाएं लगाने को लेकर नीलामी कर रही है।

पवन और सौर ऊर्जा की नीलामी की रूपरेखा के लिए आयोजित कार्यक्रम में बिजली एवं नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री RK SINGH ने कहा, कि मार्च, 2018 तक तीसरे, चौथे चरण में 3हजार से 4हजार मेगावाट पवन ऊर्जा क्षमता की नीलामी की जाएगी।

उन्होंने कहा, कि प्रत्येक चरण में 1500 से 2000 मेगावाट तक की क्षमता की परियोजनाएं लगाने के लिए नीलामी की जाएगी।

कार्यक्रम में कई बिजली वितरण कंपनियों ने की शिरकत

दूसरी नीलामी के मौके पर पवन ऊर्जा की खरीद के लिए भारतीय सौर ऊर्जा निगम, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, असम, पंजाब, गोवा तथा ओडिशा की बिजली वितरण कंपनियों ने बिजली बिक्री समझौते पर हस्ताक्षर किए।

आने वाले सालों में होगी 10-10 हजार मेगावाट परियोजना की नीलामी

सरकार 2022 तक 60 हजार मेगावाट क्षमता की पवन ऊर्जा परियोजनाएं लगाने का लक्ष्य हासिल करेगी। जिसके लिए 2018-19, 2019-20 में 10-10 हजार मेगावाट क्षमता की परियोजनाओं की नीलामी करने का फैसला किया है।

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like