मध्यप्रदेश : बिजली आपूर्ति में बनाया नया रिकॉर्ड, मिल रही है 24घंटे बिजली

Medhaj News 14 Nov 17 , 06:01:37 Power and Infrastructure
MP_electricity.jpg

मध्यप्रदेश ने बिजली आपूर्ति में अपना पुराना रिकॉर्ड तोड़ते हुए नया रिकॉर्ड दर्ज किया है। नए रिकॉर्ड में बिजली की 11,466 मेगावाट की सर्वोच्च मांग पर बिजली आपूर्ति की गयी। इससे पहले 23 दिसम्बर, 2016 को प्रदेश में बिजली की सर्वोच्च मांग 11,421 मेगावॉट दर्ज हुई थी।

उपभोक्ताओं को मिल रही है 24घंटे बिजली

दिसम्बर में बिजली की बढ़ती मांग का मुख्य कारण रबी सीजन में गेंहू की खेती है। पिछले 2वर्षों में इस महीने में बिजली की मांग बढ़ी है क्योंकि प्रदेश में कम वर्षा होने के कारण डेढ़ महीने पहले ही बिजली की मांग में और आपूर्ति में निरन्तर बढोत्तरी दर्ज हो रही है। इसके बावजूद भी किसानों को 10 घंटे गुणवत्तापूर्ण एवं निर्बाध बिजली की आपूर्ति की जा रही है और सभी बिजली उपभोक्ताओं को रोशनी के लिए 24 घंटे बिजली की सतत आपूर्ति की जा रही है।

ऐसे कर रहे आपूर्ति-

बिजली अधिकारियों ने बताया कि 11 नवम्बर को जब बिजली की मांग 11,466 मेगावाट दर्ज हुई। उस समय बिजली की आपूर्ति में पॉवर जनरेटिंग कम्पनी के ताप विद्युत गृहों से 1,950 मेगावॉट तथा जल विद्युत गृहों से 345 मेगावाट, इंदिरा सागर-सरदार सरोवर-ओंकारेश्वर जल विद्युत परियोजना का अंश 296 मेगावाट NTPC और डीवीसी (सेंट्रल सेक्टर) का अंश 2,895 मेगावॉट, सासन अल्ट्रा मेगा पॉवर प्रोजेक्ट का अंश 1,333 मेगावाट, आईपीपी का अंश 1,310 मेगावॉट रहा और बिजली बैंकिंग से 2,117 मेगावाट बिजली प्राप्त हुई। इसके अलावा अन्य नवीकरणीय स्रोत से 1,218 मेगावाट बिजली प्राप्त हुई।

इन क्षेत्रों में दर्ज की गई इतनी बिजली

बिजली अधिकारियों के अनुसार, प्रदेश के पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी (जबलपुर, रीवा तथा सागर) में बिजली की मांग 2,871 मेगावाट, मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी (भोपाल एवं ग्वालियर) में 3,716 मेगावाट और पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी (इंदौर एवं उज्जैन) में 4,878 मेगावाट दर्ज की गई है।

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story