प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ने ‘सौभाग्य योजना’ के तेहत जारी किया आदेश ,काम में लाये तेज़ी

medhaj news 17 Jan 18 , 06:01:38 Power and Infrastructure
saubhagya.jpg

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने ‘पावर फॉर ऑल’ एवं ‘सौभाग्य योजना’ के अंतर्गत हो रहे कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने शक्ति भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में अधिकारियों को चेतावनी देते हुये कहा कि इन योजनाओं के संचालन में समयबद्धता, पारदर्शिता एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये। बैठक में प्रदेश भर के अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुये उन्होंने कहा कि हर गरीब के घर बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है। हर कार्य अपने निश्चित समय पर पूरा हो। किसी को भी यदि कहीं किसी स्तर पर परेशान किया जाता है तो वह इसकी जानकारी कॉरपोरेशन के प्रबंध निदेशक, अध्यक्ष और उसके बाद मुझसे मिलकर दें। हर कार्य में पारदर्शिता अवश्य होनी चाहिए। उन्होंने कहाँ की कार्यदायी संस्थाओं का किसी भी स्तर पर उत्पीड़न नहीं होना चाहिए। जो बेहतर कार्य कर रहे हैं उनको प्रोत्साहित करिये और जो बेहतर परिणाम नहीं दे रहें हैं, जिनका कार्य शिथिल या गुणवत्तापरक नहीं है उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। पिछले 70 साल में ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग 60 लाख विद्युत कनेक्शन दिये गये, जबकि केवल 2018  के इस वर्ष ही ग्रामीण क्षेत्रों में एक करोड़ से अधिक कनेक्शन दिये जाने का लक्ष्य है जिसे पूरा करना ही होगा।

उन्होंने डार्क जोन में निजी नलकूपों के ऊर्जीकरण में पहले आओ पहले पाओ की नीति के अनुसार तत्काल कनेक्शन स्वीकृत करने के निर्देश दिये। प्रमुख सचिव ऊर्जा आलोक कुमार ने ऊर्जा मंत्री से कहा कि आपने जो निर्देश दिये हैं उनका पालन सुनिश्चित किया जायेगा। प्रमुख सचिव ने कहा कि कार्य की गुणवत्ता, समयबद्धता और परदर्शिता सुनिश्चित कराने की जिम्मेदारी विभागीय अधिकारियों की है, इसलिये डिस्काम के प्रबन्ध निदेशक से लेकर नीचे के अधिकारी लगातार सजगता बरतें और प्रभावी मॉनीटरिंग सुनिश्चित करें।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends