यूपी में आंधी-बारिश और गर्मी से 14 की मौत,4-5 दिन देर से पहुंचेगा मानसून

medhaj news 14 Jun 18,17:03:53 Science & Technology
lucknow.jpg

उत्तर प्रदेश में बुधवार को आंधी-बारिश और गर्मी के कारण 12 लोगों की मौत हो गई। दीवार व पेड़ गिरने से अलग-अलग हादसों में अवध के जिलों में सात लोगों की मौत हो गई। मृतकों में सीतापुर के चार, गोंडा के दो और फैजाबाद के एक शामिल हैं। जबकि कन्नौज व कौशांबी में दो-दो और हरदोई में एक की जान चली गई। वहीं लू लगने बांदा व महोबा में एक-एक की मौत हो गई।

अवध के गोंडा के नवाबगंज के अंबरपुर गांव में पेड़ की डाल गिरने से दो चचेरी बहनों कोमल व श्वेता की दबकर मौत हो गई। सीतापुर जिले के सदरपुर क्षेत्र के धर्मपुर छप्पर की दीवार गिरने से अरबी (20) की मौत हो गई।वहीं, सदरपुर के सददूपुर में टिनशेड व दीवार गिरने से नजर मोहम्मद के पुत्र सुहेल (12) की दबकर मौत हो गई। महोली में छत से गिरकर भन्नू (50) की मौत हो गई। उधर, फैजाबाद के कैंट क्षेत्र में पेड़ गिरने से मुमताज नगर निवासी श्रीमती (45) की मौत हो गई। वहीं, अयोध्या में 50 से अधिक पेड़ गिरने से छह से अधिक लोग जख्मी हो गए।

देश के उत्तरी व उत्तर-पश्चिमी हिस्से में सक्रिय चक्रवातीय दबावों के चलते मानसून की रफ्तार धीमी हो गई। इससे मानसून के यूपी में आने में 4 से 5 दिनों की देरी हो सकती है। आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्त ने बुधवार को बताया कि उत्तर-पश्चिमी गर्म हवाओं से प्रदेश में गर्मी बढ़ी है, वहीं देश के पश्चिमी इलाकों सक्रिय चल रहे मौसमी उठापटक से मानसून की रफ्तार धीमी हो गई।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story