रमजान खत्म ऑपरेशन ऑलआउट शुरू, अब आतंकियों की खैर नहीं

Medhaj news 18 Jun 18,21:30:49 Science & Technology
1862018111828434.jpg

जम्मू कश्मीर में भारत सरकार ने अहम फैसला लेते हुए सीजफायर खत्म कर दिया है। अब कश्मीर में फिर से ऑपरेशन ऑल आउट शुरू होगा। आतंकवादियों के खिलाफ अभियान पर एकतरफा रोक को लेकर केंद्र सरकार राज्य की सुरक्षा स्थिति पर नजर बनाए हुए थी। आज सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया। सुरक्षा बलों ने बांदीपुरा में चार आतंकियों को ढेर कर दिया। फिलहाल सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है। सेना को बिजबेहारा इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी जिसके बाद सुरक्षाबवों ने पूरे इलाके को घेर लिया। रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि एकतरफा सीजफायर विराम को और आगे नहीं बढ़ाया जा सकता।

ये भी पढ़े:  गाजियाबाद में BJP विधायक नंदकिशोर गुर्जर पर जानलेवा हमला, पुलिस चौकी में छुपकर बचाई जान
सीजफायर पर निर्णय रमजान तक ही था। उल्लेखनीय है कि 16 मई को केंद्र ने कश्मीर में रमजान के महीने में शांति की पहल को बढ़ावा देने के लिए ऑपरेशन को निलंबित रखने का आदेश दिया था लेकिन आतंकियों और पाकिस्तान दोनों ने भारत की नरम दिली का फायदा उठाया। आतंकियों ने राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी को गोलियों से छलनी कर दिया और दूसरी तरफ सेना के जवान औरंगजेब को अगवा कर उसकी निर्मम हत्या कर दी। रमजान के दौरान भी आतंकियों ने भारतीय सेना पर कई हमले किए।

ये भी पढ़े: भय्यू जी महाराज आत्‍महत्‍या मामले से जुड़ी कुछ बातें

केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में एक माह बाद ही आतंकियों के खिलाफ संघर्ष विराम वापस ले लिया है। रमजान के महीने में अपनी तरफ से संघर्ष विराम का एलान कर केंद्र सरकार ने जो दरियादिली दिखाई थी उसका बहुत असर नहीं दिखा। इसके बाद सरकार ने आतंकियों के सफाए के लिए ऑपरेशन ऑल-आउट फिर शुरू करने का फैसला कर लिया। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार सुबह ट्वीट कर बताया कि आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन फिर से शुरू हो रहा है। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह के अलावा अन्य संबंधित अधिकारियों की उच्चस्तरीय बैठक भी हुई थी।
गृह मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि सुरक्षा बलों को आदेश दिया जा रहा है कि वे पहले की तरह ऐसी आवश्यक कार्रवाई करें, जिससे आतंकवादियों को हमला करने से रोका जा सके। भारत सरकार जम्मू-कश्मीर में हिंसा से मुक्त वातावरण बनाने का प्रयास जारी रखेगी। इसके लिए जरूरी है कि राज्य के सभी शांतिप्रिय लोग आतंकियों को अलग-थलग कर दें। जिन लोगों को गुमराह कर गलत रास्ते पर ले जाया गया है, उन्हें शांति के मार्ग पर वापस लाने के लिए प्रेरित करें।

ये भी पढ़े: पूर्वोत्तर भारत में बाढ़ के कारण मची तबाही, अब तक 4 लाख लोग प्रभावित

सरकार नहीं लेना चाहती जोखिम
भारत सरकार इस महीने की 28 तारीख को शुरू होने जा रही बाबा अमरनाथ यात्रा को लेकर किसी भी प्रकार का जोखिम नहीं लेना चाहती है। चूंकि यह यात्रा आतंकवादियों के लिए आसान निशाना हो सकती है और इसलिए सरकार आतंकवादियों को छूट देकर कोई जोखिम नहीं लेगी। पिछले साल अमरनाथ यात्रियों पर हुये आतंकवादी हमले के मद्देनजर गृह मंत्रालय ने इस बार सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। इसके बावजूद,आतंकवादियों के हौसले पस्त करने के लिए सेना को उनके खिलाफ अभियान की छूट देने की भी जरूरत महसूस की जा सकती है।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story