गांव में पानी की किल्लत दूर करने के लिए 27 साल अकेले दम पर खोद डाला तालाब

Medhaj News  |  Special Story  |  28 Aug 17,12:48:22  |  
syam_lal.jpg

दशरथ मांझी के बारे में तो आप जानते ही होंगे, जिन्होंने अपने दम पर एक पहाड़ तोड़कर सड़क का निर्माण किया था। इसपर फिल्म भी बन चुकी हैं। ऐसा ही एक उदाहरण छत्तीसगढ़ से भी सुनने में आ रहा है... नहीं... नहीं इन्होंने कोई पहाड़ तोड़कर नई सड़का का निर्माण नहीं किया बल्कि 27 साल की मेहनत के बाद एक तालाब का निर्माण किया है।

जी हां, छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के चिरमरी इलाके के रहने वाले हैं श्याम लाल... श्याम के गांव में पानी की काफी समस्या है। सरकार ने भी इस गांव की तरफ कुछ खास ध्यान नहीं दिया। अपने इस गांव की समस्या दूर करने के लिए श्याम ने 15 साल की उम्र में यह जिम्मेदारी अपने नाजुक कंधो पर ले ली। तकरीबन 27 साल की मेहनत के बाद उसने अपना गांव के लिए एक तलाब का निर्माण किया, जिससे पानी की समस्या खत्म हो जाए।

तलाब बनने के बाद न केवल गांव की पानी की समस्या दूर हो गई बल्कि मछली पकड़कर अपनी रोजी-रोटी कमाने का विकल्प भी गांव वालों को मिला।

श्याम ने एक एकड़ जमीन में 15 फुट का गहरा तालाब खोदा... श्याम की इस मेहनत से गावं वाले बहुतच ही ज्यादा खुश हैं। 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...