Headline

इंडिया That Is भारत

medhaj news 23 Dec 18,21:50:00 Special Story
india.jpg

भारत संसदीय प्रणाली वाला प्रभुसत्तासंपन्न समाजवादी धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य है, जिसे राज्यों का संघ भी कहते है, अनुच्छेद एक के अनुसार भारत का नाम सिर्फ भारत है जिसे यू ऐन ने कहा, इंडिया that is भारत, जिसे हमने मान लिया,और हम इंडियन हो गये, भारतीये बन ही नही पाये क्योकि शुरू से हमको जो दुश्मनों ने या दूसरों ने हमसे कहा हमने उसी को सही माना , हमारा अपना जितना सही कहे हम उससे सबूत मांगते है, यही कारण है कि भारत एक राष्ट्र बना जरूर मगर राज्यो का संघ भी बना,





सिकन्दर ने राजा पुरु को हराया ये कही प्रमाण नही है मगर हम मानते है कि हराया, हमने कुछ ही इतिहास करो को माना जिन्होंने भारत के बारे में गलत कहा हमने उन इतिहासकारो को नही माना जिन्होंने लिखा सिकंदर हार गया तब पुरु से , भागते वक़्त हरियाणा के वीरो ने उसे घायल किया था उपरांत उसकी मौत हुई  इसको हम न पढ़ाते न बताते, हमने कभी अकबरनामा को न पढ़ने की कोशिश की न ज़िक्र किया न सम्मान किया जबकि अकबरनामा स्वयं अकबर ने लिखा था, उसमे कही पे जोधा का ज़िक्र नही है,जब हम आज भी अपने संविधान को नही मानते न तब न अब क्यो माने जब दूसरी माँ से पैदा भाई ने अपने देश के राज खोल कर महाराणा को हरवा दिया था कैसे मानेंगे क्योकि अभी तक यूरोप ने कहाँ कहा, मैच फिक्सिंग में हॅंसी क्रोनिए ने माना कि उसने गुनाह किया है हालही स्मिथ ने माना कि उसने बॉल टेम्परिंग की,मगर आजतक भारत मे किसी ने नही माना क्यो माने क्योकि हम तो इंडियन है भारतीय नही,





भारतीये होते तो मान लेते ,अगर हम भारतीय होते तो बताते कि 1967 में भी चीन हमसे लड़ा और हार गया, हमारे देश के गंदगी भी उसी सोच का एक हिस्सा है, कि हम सिर्फ अपने मतलब की ही बात मानेगे, हम कभी यू ऐन की सफाई या वहाँ सच बोलने की आदत नही अपनाएँगे, वहाँ कोई दलित की बात नही करता ऐसा उनका स्ट्रक्चर है मगर यहाँ के लोग दलित की नही दल हित की सोचते है,वहाँ किसान का ऋण माफ नही होता , बल्कि किसान को इस लायक बनाया जाता है कि ऋण की जरूरत न पड़ें यहाँ किसान का हित देखते है या  कि -शान को देखते है।–arYa


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like